गौरव भारद्वाज, आगरा: 51 दिन पहले की बात है। आंबेडकर विवि में पं. दीनदयाल उपाध्याय की भव्य प्रतिमा का अनावरण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल राम नाईक ने किया था। मगर, अनावरण के बाद से दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा काले कपडे़ में कैद है। विवि प्रशासन ने अधूरी तैयारी के बीच ही प्रतिमा का उद्घाटन करा दिया।

25 सितंबर को पं. दीनदयाल की जयंती पर विवि के पालीवाल पार्क परिसर में पं. दीनदयाल की प्रतिमा का भव्य कार्यक्रम में अनावरण किया गया। प्रतिमा स्थापना के लिए मुख्यमंत्री व राज्यपाल ने कुलपति और विधायक जगन प्रसाद गर्ग की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि पं. दीनदयाल की प्रतिमा विवि में आने वाले छात्रों को प्रेरणा देगी। मगर, मुख्यमंत्री और राज्यपाल को नहीं पता था कि उनके जाने के बाद ही प्रतिमा को कैद कर दिया जाएगा। करीब एक महीने से पं. दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा काले कपडे़ से ढक दी गई है। इसके पीछे कारण है कि प्रतिमा के ऊपर छतरी नहीं बनी है। प्रतिमा को ढकने के लिए छतरी का निर्माण कार्य अभी होना है। अभी केवल चार पिलर खडे़ किए गए हैं। अनावरण के बाद से प्रतिमा की छतरी बनवाने का काम शुरू नहीं हो सका है। ऐसे में जब तक कार्य पूरा नहीं होगा प्रतिमा काले कपडे़ में ढकी रहेगी। अधूरी तैयारी के बीच कराया अनावरण

विवि प्रशासन ने अधूरी तैयारी के बीच प्रतिमा का अनावरण मुख्यमंत्री से कराया। सूत्रों की मानें तो जिला प्रशासन अधूरी प्रतिमा का अनावरण कराने के लिए सहमत नहीं था। विवि प्रशासन ने भी इस बात को नजरअंदाज कर कार्यक्रम का आयोजन किया।

प्रतिमा के ऊपर छतरी बनवाने का काम चल रहा है। प्रतिमा सीमेंट से खराब न हो इसके चलते इसे ढक दिया गया है। इसके पीछे अन्य कोई कारण नहीं है। मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की तारीख मिलने के कारण ही बिना छतरी के इसका अनावरण कराया गया था।

गिरजाशंकर शर्मा, पीआरओ, आंबेडकर विवि

Posted By: Jagran