आगरा, जागरण संवाददाता। फतेहपुर सीकरी में राजस्थान सीमा पर मंगलवार को गिरफ्तार किये गए कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष अजय कुमार लल्‍लू काे न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट अनुकृति संत की कोर्ट में पेश किया गया। पेशी के बाद 20- 20 हजार रुपये के निजी मुचलके पर कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष समेत पूर्व एमएलसी विवेक बंसल और पूर्व एमएलए प्रदीप माथुर को जमानत मिल गई। लेकिन कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष को जमानत के बाद भी राहत नहीं मिली। लखनऊ से आई पुलिस फोर्स जमानत मिलते ही अजय कुमार लल्‍लू को अपने साथ ले गई। कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष के खिलाफ लखनऊ में बस नंबर की फर्जी सूची के मामले में मुकदमा दर्ज हुआ है। इससे पूर्व जैसे ही लखनऊ पुलिस ने दीवानी परिसर से गाड़ी को आगे बढ़ाया तो कांग्रेसी गाड़ी के आगे सड़क पर लेट गए। पुलिस ने सभी को हटाया इसके बाद पुलिस प्रदेश अध्‍यक्ष को लेकर रवाना हो गई। 

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और पूर्व एमएलसी विवेक बंसल की पूरी रात पुलिस हिरासत में कटी। पुलिस ने दोनो नेताओं के खिलाफ लाॅकडाउन उल्लघंन और महामारी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को पुलिस लाइन और पूर्व एमएलसी को एत्माद्दौला थाने में रखा गया। उनके साथ हिरासत में लिए अन्य नेताओं को पुलिस ने देर रात छोड़ दिया था। उधर कोसी बॉर्डर पर प्रियंका गांधी वाड्रा के आने की बात भी कही जा रही है। एहतियातन कोसी और फतेहपुर सीकरी बॉर्डर को सील कर दिया गया है। 

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने प्रवासी मजदूरों को लाने के लिए प्रदेश सरकार से एक हजार बसों को चलाने की अनुमति मांगी थी। प्रदेश सरकार ने इसकी अनुमति दे दी थी। इसके बाद यह फतेहपुर सीकरी के चौमा शाहपुर में यूपी और राजस्थान बार्डर पर खड़ी रहीं थी। बसों को यूपी सीमा में प्रवेश देने की जानकारी पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और पूर्व एमएलसी विवेक बंसल, पूर्व विधायक प्रदीप माथुर समेत अन्य नेता फतेहपुर सीकरी सीमा पर पहुंचे थे। वह बसों को यूपी सीमा में प्रवेश की मांग कर रहे थे। तीन घंटे तक अनुमति नहीं मिलने पर चार बजे धरने पर बैठ गए। इसके बाद पुलिस ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष समेत पांच को हिरासत में ले लिया था। उन्हें पुलिस लाइन लाया गया।

पुलिस ने देर रात कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और विवेक बंसल के खिलाफ महामारी एक्ट और लॉकडाउन के उल्लघंन का मुकदमा दर्ज किया।  इसमें चार-पांच अज्ञात लोगाें को भी आरोपित बनाया है। देर रात तक कांग्रेसी पुलिस लाइन पर डटे रहे। पुलिस ने दोनों नेताओं को जमानत नहीं दी, अन्य नेताओं को वहां से हटा दिया। इसके बाद पुलिस ने पूर्व एमएलसी को एत्माद्दौला थाने भेज दिया। पूर्व विधायक प्रदीप माथुर भी एत्माद्दौला थाने में ही डटे रहे। उधर, अन्य कांग्रेसी नेता पुलिस लाइन के बाहर डटे रहे। एसपी ग्रामीण रवि कुमार ने बताया कि दोनों आरोपितों को कोर्ट में प्रस्तुत किया जाएगा।

हंगामे की आशंका पर लाइन में सतर्क रहा फोर्स

अपने नेताओं की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस लाइन में जुटे कांग्रेसी नेताओं द्वारा हंगामे की आशंका पर वहां पहले से ही फोर्स सतर्क था। पुलिस लाइन प्रवेश द्वार पर बैरियर लगा दिया गया था। इससे कि परिसर के अंदर कोई कांग्रेसी बिना इजाजत के प्रवेश नहीं कर सके। कांग्रेसी प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व विधायक को कोर्ट में जल्दी प्रस्तुत करने की मांग कर रहे थे। 

लखनऊ पुलिस ने अजय कुमार लल्‍लू को गिरफ्तार

यूपी कांग्रेस अध्‍यक्ष अजय कुमार लल्लूू को राजधानी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। अजय कुमार लल्‍लूू के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में मंगलवार को एफआईआर दर्ज की गई थी। मंगलवार को न्‍यायालय से रिहा होने के बाद अजय कुमार राजधानी लौट रहे थे, जिन्‍हें लखनऊ पुलिस ने दबोच लिया। अजय कुमार व प्रियंका गांधी वाड्रा के निजी सचिव संदीप सिंह समेत अन्‍य के खिलाफ मंगलवार को धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज की गई थी। आरोप है कि कांग्रेस पार्टी की ओर से प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचाने के लिए एक हजार बस उपलब्‍ध कराने की बात कही गई थी। शासन ने अनुमति देते हुए उनसे बसों का ब्‍यौरा मांगा था। आरोपिताेें ने बस की सूची में हेराफेरी कर उसे स्‍थानीय प्रशासन को सौंपा था। आरटीओ आरपी द्विवेदी की तहरीर पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की थी। 

Posted By: Prateek Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस