जागरण संवाददाता, आगरा: राष्ट्रीय लोकदल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने लोकसभा चुनाव से पहले समान विचारधारा वाले राजनीतिक दलों से गठबंधन की उम्मीद जताई है। उन्होंने केंद्र और प्रदेश सरकार को हर मामले में विफल बताया और कहा कि उनकी पीएम नरेंद्र मोदी से दुश्मनी नहीं है, लेकिन उनकी नीतियां रालोद को पसंद नहीं हैं। प्रमोशन पाने और वेतन बढ़वाने के लिए प्रदेश में फर्जी एनकाउंटर किए जा रहे हैं। इसमें पुलिस निर्दोषों की भी जान ले रही है।

बुधवार शाम यहां रालोद जिलाध्यक्ष मालती चौधरी के आवास पर आए जयंत चौधरी ने मीडियाकर्मियों से कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार न किसानों की सुन रही है और न ही गरीबों की। फर्जी एनकाउंटर में बदमाश कम, निर्दाेष अधिक मारे जा रहे हैं। इसलिए वर्दी से जनता का विश्वास उठ रहा है। यूपी में हर तरफ अपराध हो रहे हैं। किसी का जान-माल सुरक्षित नहीं है। ऐसे में लखनऊ में हो रहे इन्वेस्टर्स समिट का फायदा नहीं मिलने वाला। ये दोनों सरकारें लोकतंत्र को कमजोर कर रही हैं।

प्रदेश में विकास के सवाल पर रालोद उपाध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के कल्याण के लिए बड़े फैसले नहीं ले रही है। युवा रोजगार के लिए परेशान हैं। युवाओं के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में स्टेडियम भी बनने चाहिए। यूपी में खेल नीति ही नहीं है।

रालोद के संगठन के सवाल पर उन्होंने बताया कि इस समय पार्टी संगठन को दुरस्त कर रही है। किसान, युवा और मजदूरों का गठजोड़ तैयार किया जा रहा है। प्रदेश और पश्चिम यूपी की कार्यकारिणी शीघ्र जारी होगी। इस मौके पर जयंत ने सभी समाज के लोगों से मुलाकात की। सपा छोड़कर कृपाल सिंह रालोद में सम्मिलित हुए। वह स्थानीय कुछ कार्यक्रमों में भी शामिल हुए। पूर्व मंत्री जीपी पुष्कर, ईश्वर दयाल, जयपाल सिंह खिरवार, लोचन चौधरी, मानव चौधरी, कलीम कुरैशी, गीता, रिपुदमन सिंह आदि पदाधिकारी साथ थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस