आगरा, अमित दीक्षित। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को आगरा से गए चौबीस घंटे बीतने से पहले ही वीआइपी रोड बदहाल हो गया। आगरा एयरफोर्स स्टेशन से लेकर ताज पूर्वी गेट तक लगे 70 फीसद स्थलों से गमले हटा लिए गए। कहीं पर ग्रीन कर्टन हट गया, तो कहीं जमीन पर गिरा पड़ा हुआ है। जिस रोड की दिन में तीन बार धुलाई और तीन बार झाड़ लग रही थी, उसी रोड पर कूड़े के ढेर लग गए हैं। अधिकांश हिस्से में झाड़ तक नहीं लगाई गई है। प्रशासन और नगर निगम के दावे की पोल खुल गई है। मॉडल रोड का भी सपना टूट गया है। मंगलवार को दैनिक जागरण की टीम ने इस हकीकत का स्थलीय निरीक्षण किया।

ईदगाह आरओबी से चौराहा तक

रोड के दोनों ओर ठेल लगना शुरू हो गया। चौराहा पर फिर से अतिक्रमण कर लिया गया। इस क्षेत्र में झाड़ नहीं लगी थी। बेसहारा जानवर घूमते हुए दिखाई पड़े। यहां पर पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति के कट आउट लगे हुए थे। जो मौके पर नहीं मिले।

कैंट रोड से एडीआरडीई

यहां पर झाड़ नहीं लगी थी और न ही कूड़ा उठाया गया था। एक तरफ लगा ग्रीन कर्टन भी गायब था। गमले नहीं थे। रोड किनारे बैरीकेडिंग की गई थी। यह नहीं मिली।

टैंक चौराहा

यहां दोनों साइड पर गमले रखे हुए थे। जो अब हटा लिए गए हैं। यहां पर भी सफाई व्यवस्था ठीक नहीं थी। रोड के किनारे कूड़ा पड़ा हुआ था।

अवंतीबाई चौराहा

चौराहा के आसपास रखे हुए गमले गायब थे। कट आउट भी नहीं थे। चौराहा की खाली जगह पर कुछ गमले रखे हुए थे।

माल रोड

इस रोड के दोनों ओर गमले रखे हुए थे। 80 फीसद क्षेत्र से गमले हटा लिए गए। साइकिल ट्रैक पर सफाई मिली लेकिन रोड के किनारे कूड़ा पड़ा हुआ था। कट आउट हटा लिए गए थे। फूल सैयद चौराहा हो या फिर अन्य कोई। कहीं पर भी गमले नहीं रखे हुए मिले। यहां तक जहां पर भी ग्रीन कर्टन लगे हुए थे। उन्हें हटा लिया गया। भारत और अमेरिका के झंडे तक उतार लिए गए।

कमिश्नरी चौराहा

यहां से गमले हटा लिए गए। रोड और डिवाइडर पर रखे हुए थे। तिकोनिया पार्क को अच्छी तरीके से गमलों से सजाया गया था। जिसे हटा लिया गया। यहां बेसहारा जानवर घूमते हुए मिले।

फतेहाबाद रोड

इस रोड पर लगे 80 फीसद गमले हटा लिए गए थे। कुछ यही हाल ग्रीन कर्टन और बेरीकैडिंग का था। पाथ वे पर वाहन खड़े हुए थे।

टीडीआइ माल के पास

यहां पर डिवाइडरों पर पौधे रोपे गए थे। घास भी लगाई गई थी। जो अब नहीं था।

कलाकृति तिराहा

यहां पर गमले नहीं रखे हुए थे। सफाई व्यवस्था अन्य जगहों के मुकाबले ठीक थी।

शिल्पग्राम रोड

रोड के किनारे आकर्षक लाइटिंग की गई थी। जिसे हटा लिया गया था। गमले भी नहीं थे। रोड पर ठीक से झाड़ नहीं लगी थी।

ताज पूर्वी गेट नाला

यहां मोगरा फूलों की लड़ियां लटक रही थी लेकिन गमले नहीं थे। नाले से बदबू नहीं आ रही थी।

खेरिया मोड़

मोड़ से कुछ कदम की दूरी पर कूड़े के ढेर लगे हुए थे। नालियों की सफाई ठीक से नहीं हुई थी। डिवाइडरों पर गले गमले नहीं थे। दुकानदारों ने फुटपाथ पर सामान रखना शुरू कर दिया।

फिर से शुरू हुए अतिक्रमण के प्रयास

मंगलवार को वीआइपी रोड और वैकल्पिक रोड पर फिर से अतिक्रमण के प्रयास शुरू हो गए हैं। चाहे प्रतापपुरा तिराहा हो या फिर अन्य कोई क्षेत्र। रोड और फुटपाथ पर कब्जे से इन्कार नहीं किया जा सकता है।

श्वानों और बेसहारा जानवरों पर नहीं लगा अंकुश

वीआइपी रोड पर मंगलवार को दर्जनभर के करीब श्वान और बेसहारा जानवर घूमते रहे। कई जानवर रोड के किनारे बैठे रहे।

तिरंगी एलईडी से लेकर डेकोरेटिव लाइट हुईं बंद

फतेहाबाद रोड पर मंगलवार रात तिरंगी एलईडी और डेकोरेटिव लाइट बंद हो गईं। लोगों ने फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर वायरल कर लिए।

वीआइपी रोड पर सफाई क्यों नहीं हुई। नगर निगम के अफसरों से जवाब-तलब किया जाएगा। जल्द ही डिावइडरों के खाली स्थल और रोड के किनारे पौधे लगाए जाएंगे।

अनिल कुमार, मंडलायुक्त

वीआइपी रोड को मॉडल रोड के रूप में मानते हुए विकसित किया जाएगा। जल्द इस पर काम शुरू होगा।

प्रभु एन. सिंह, डीएम

वीआइपी रोड पर सफाई क्यों नहीं हुई है। इसकी शिकायत मिली है। यह लापरवाही है इसकी जांच के आदेश दिए गए हैं। दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

अरुण प्रकाश, नगरायुक्त

 

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस