आगरा, जागरण संवाददाता। आगरा में किसान नेता पुलिस के रडार पर हैं। उनकी हर गतिविधि पर नजर रख रहे हैं। वह कहां जा रहे हैं, इस पर तो नजर है ही, वह किससे बात कर रहे हैं, इस पर भी पुलिस के कान लगे हैं। किसान नेताओं को शक है कि पुलिस ने उनके फोन सर्विलांस पर लगा दिए हैं, ऐसे में उन्होंने अपने फोन से बात करना ही छोड़ दिया है। वह नये नंबरों से अपने साथियों से संपर्क साध रहे हैं।

नये कृषि कानूनों के विरोध में किसान आंदोलन थमने का नाम नहीं ले रहा। आगरा से भी काफी किसान दिल्ली आंदोलन में शिरकत कर रहे हैं। बीते दिनों पुलिस को चकमा देकर तमाम किसान दिल्ली के गाजीपुर बार्डर पर पहुंच गए। पुलिस देखती रह गई है। तमाम किसान नेता तो पुलिस का पहरा तोड़कर दिल्ली गए। ऐसे में पुलिस ने अब किसान नेताओं पर उनके मोबाइल फोन के जरिये निगरानी शुरू कर दी है। शक होने पर किसान नेताओं ने भी इसका तोड़ निकाल लिया है। आंदोलन के संबंध में अपने साथियों से नये फोन नंबर से बात कर रहे हैं। ताकि पुलिस की उनकी रणनीति न जान सके। किसान नेता श्याम सिंह चाहर का कहना है कि उनका आंदोलन जारी रहेगा। पुलिस चाहे कितने भी पहरे लगा दे। जिस तरह से वह अपने साथियों के साथ पिछले दिनों दिल्ली जाने में सफल रहे थे, वह फिर से दिल्ली कूच करेंगे। ताकि किसानों के हक की आवाज को बुलंद किया जा सके।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021