आगरा, जागरण संवाददाता। अग्निवीर भर्ती रैली में अभी तक फर्जी प्रमाण पत्र से नौकरी लेने का मामला सामने आया था लेकिन शनिवार को आनंद इंजीनियरिंग कालेज में अलीगढ़ और एटा के युवाओं ने स्टेरायड का प्रयोग किया। इन दोनों जिलों के 115 युवा स्टेरायड लेकर रैली में पहुंच गए। जांच में इनसे पूछताछ हुई तो सच सामने आ गया। इन युवाओं को रैली से बाहर करते हुए विशेष सूची में डाल दिया गया है। 

अग्निवीर भर्ती में इस तरह पकड़ा गया इंजेक्शन का मामला

सेना भर्ती कार्यालय, आगरा द्वारा आनंद इंजीनियरिंग कालेज में बीस सितंबर से दस अक्टूबर तक अग्निवीर भर्ती रैली आयोजित की रही है। 12 जिलों के 1.75 लाख युवा शामिल हो रहे हैं। शनिवार को खैर अलीगढ़ और अलीगंज एटा के युवाओं को मौका मिला। दोनों तहसीलों के 8922 युवाओं ने पंजीकरण कराया था जिसमें 7122 युवाओं ने भाग लिया। शुक्रवार रात एक बजे सभी युवाओं को कालेज परिसर में प्रवेश दिया गया। सबसे पहले युवाओं के प्रमाण पत्रों की जांच हुई फिर अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रथम राम प्रकाश और पुलिस उपाधीक्षक विक्रांत द्विवेदी की निगरानी में युवाओं का स्वास्थ्य परीक्षण शुरू हुआ। मेडिकल टीम को जांच के दौरान कुछ युवाओं के शरीर पर इंजेक्शन के निशान मिले। इस पर टीम ने युवाओं को एक तरफ कर पूछताछ शुरू की। पहले तो युवा गुमराह करते रहे लेकिन जब सख्ती से बात की गई तो सच बोलना शुरू कर दिया। युवाओं ने बताया कि दौड़ में खुद को आगे रखने के लिए स्टेरायड इंजेक्शन लिया है। एक के बाद एक 115 युवाओं को अलग किया गया। इन सभी ने स्टेरायड लिया था। भर्ती रैली के प्रभारी अधिकारी कर्नल सुदेश ने बताया कि स्टेरायड का प्रयोग करने पर इन सभी को रैली से बाहर कर दिया गया है। युवाओं का पता ले लिया गया है। विधिक व कानूनी कार्रवाई भी की जा रही है। भविष्य में यह किसी भी रैली में भाग नहीं ले सकेंगे।

Edited By: Tanu Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट