आगरा, जागरण संवाददाता। गोल्ड लोन कंपनी की शाखा में डकैती डालने वाले गैंग के सरगना नरेंद्र उर्फ लाला ने वारदात के पहले और बाद में अपना कोई वाहन इस्तेमाल नहीं किया था।वह बस से फीरोजाबाद से यहां आया था और डकैती के बाद करोड़ों का सोना लेकर आटो से भागा था। अब पुलिस को जानकारी मिली है कि वह फीरोजाबाद से टैक्सी लेकर दिल्ली गया था। उसकी गिरफ्तारी को पुलिस की एक टीम ने दिल्ली में डेरा जमा लिया है।

कमला नगर स्थित मणप्पुरम गोल्ड लोन कंपनी की शाखा में बदमाशों ने 17 जुलाई को डकैती डाली थी। बदमाश डकैती के दौरान करोड़ों का सोना लेकर भाग गए थे। घटना के कुछ देर बाद ही डकैती में शामिल बदमाश मनीष पांडेय और निर्दोष पुलिस मुठभेड़ में मारे गए थे। उनके एक साथी प्रभात शर्मा ने थाने पहुंचकर समर्पण कर दिया।इसके बाद संतोष जाटव को शुक्रवार को पुलिस ने मुठभेड़ में गोली लगने के बाद गिरफ्तार कर लिया। गैंग का सरगना फीरोजाबाद के सुहागनगर निवासी नरेंद्र उर्फ लाला अभी फरार है। उस पर एडीजी राजीव कृष्ण ने एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया है। पुलिस को छानबीन में जानकारी मिली है कि नरेंद्र अपने गैंग के सदस्यों को लेकर बस से यहां आया था। वारदात करके वह आटो से भागकर गया। एत्मादपुर में बुढ़िया के ताल के पास उन्होंने सोने में से बंटवारा कर लिया। इसके बाद नरेंद्र अपने कुछ साथियों के साथ फीरोजाबाद गया था।फीरोजाबाद से कुछ देर बाद ही वह टैक्सी लेकर दिल्ली चला गया। जानकारी होने के बाद पुलिस की टीम दिल्ली पहुंच गई है। अभी तक उसके बारे में वहां कोई जानकारी नहीं मिल पा रही है। आशंका है कि वह दिल्ली से कहीं और चला गया है। उसके दो साथी अशुंल सोलंकी और अभिनाश शर्मा उर्फ लालू भी फरार हैं। इन पर 25-25 हजार रुपये का इनाम है। पुलिस इनकी तलाश में भी दबिश दे रही है। 

Edited By: Tanu Gupta