आगरा, जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण के चलते पंचायत चुनाव की मतगणना को लेकर जारी गाइड लाइन के बावजूद जीत का जश्न मनाने और विजयी जुलूस निकालने पर ताजगंज थाने में दो मुकदमे दर्ज किए गए हैं।

कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए पंचायत चुनाव में जीतने वाले प्रत्याशियों को विजयी जूलूस नहीं निकालने की गाइड लाइन सरकार ने जारी की थी। मतगणना स्थल पर भी प्रत्याशियों व उनके एजेंटों द्वारा जूलूस न निकालने के निर्देश दिए गए थे। इसके बाद लोग नहीं माने। मतगणना स्थल के बाहर ही जीत का जश्न मनाते नजर आए। सोमवार की शाम को करीब चार बजे बरौली में शमसाबाद रोड स्थित मतगणना केंद्र के बाहर विजयी प्रधान पद के प्रत्याशी को फूलों की माला पहनाने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। इसमें संजीव कुमार प्रधान और अज्ञात दस लोगों के खिलाफ लाकडाउन के उल्लंघन और महामारी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।पुलिस वीडियो फुटेज के आधार पर अन्य आरोपितों की पहचान कर रही है।

वहीं, मंगलवार की सुबह को ताजगंज के गांव बुढ़ाना में विजयी प्रधान के पति रविंद्र यादव ने विजयी जुलूस निकाला। इसका वीडियो इंटरनेट मीडिया में वायरल हो गया। इस पर पुलिस ने प्रधान पति रविंद्र यादव, गजेंद्र और 50-60 लाेगों के खिलाफ भी महामारी एक्ट व लाकडाउन उल्लंघन की धारा के तहत मुकदमा दर्ज किया है। इंस्पेक्टर ताजगंज उमेशचंद त्रिपाठी ने बताया कि जूलूस में शामिल अन्य आरोपितों की पहचान वायरल वीडियो की मदद से की जा रही है।