आगरा, जागरण संवाददाता। शाहगंज हो या फिर आवास विकास। इन क्षेत्रों में बूथ लेवल अफसर (बीएलओ) अफसर सुबह दस से 12 बजे तक नहीं पहुंचे। इससे वोटर बनने के लिए पहुंचे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इसकी शिकायत डीएम से की गई है।

निर्वाचन आयोग के आदेश पर 22 जनवरी तक विशेष मतदाता पुनरीक्षण अभियान चल रहा है। रविवार सुबह दस से शाम चार बजे तक 3300 बूथों पर बीएलओ को मौजूद रहना था लेकिन 40 फीसद बूथों पर कोई नहीं पहुंचा। इससे वोटर बनने के लिए पहुंचे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। शिकायतकर्ता विनीता सिंह ने बताया कि आवास विकास क्षेत्र में बीएलओ दोपहर तक नहीं पहुंचे। फोन पर अफसरों से इसकी शिकायत की गई। सोनू बघेल ने बताया कि अर्जुन नगर क्षेत्र में भी बीएलओ निर्धारित समय पर नहीं मिले। उप जिला निर्वाचन अधिकारी रमेश चंद ने बताया कि जिन बूथों में बीएलओ गैर हाजिर रहे हैं। ऐसे बूथों को चिन्हित किया जा रहा है। बीएलओ पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पांच हजार सैन्य वोटरों की होगी बढ़ोतरी

छावनी परिषद की वोटर लिस्ट में पांच हजार सैन्य वोटर बढऩे जा रहे हैं। पैराशूट ब्रिगेड के जवान व अधिकारी सूची में शामिल होंगे। वहीं सिविल वोटरों की संख्या 20529 है।

छावनी परिषद का चुनाव एक से दो माह में प्रस्तावित है। वर्ष 2015 में हुए चुनाव में 2973 सैन्य और 29167 सिविल एरिया एरिया के वोटर थे। हाल ही में 690 सैन्य मतदाता थे। सीईओ च्योति कपूर ने बताया कि पैराशूट ब्रिगेड ऐसे जवान और अधिकारी जो अपने क्वार्टर, बंगले, बैरक में रह रहे हैं, वह चुनाव में वोट डालने के हकदार हैं। जो लोग अपने परिवार के साथ निवास कर रहे हैं, उनके 18 वर्ष से अधिक उम्र के परिजनों के नाम भी मतदाता सूची में शामिल किए जाएंगे।  

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस