आगर, अमित दीक्षित। सरकारी जमीनों पर कब्जा करने वालों के खिलाफ प्रदेश सरकार सख्त है। आगरा मंडल के चार जिलों आगरा, फीरोजाबाद, मथुरा और मैनपुरी में सरकारी जमीनों पर कब्जे को लेकर एक माह के भीतर 14645 शिकायतें पहुंचीं। इन शिकायतों को लेकर सभी जिलों के प्रशासन ने विशेष अभियान चलाया। 13464 शिकायतों का निस्तारण करते हुए 2717 हेक्टेअर जमीन को कब्जा मुक्त कराया गया। इसमें सबसे अधिक जमीन मथुरा में 1466 हेक्टेअर है। वहीं 159 शिकायतें लंबित हैं। 9 हेक्टेअर के आसपास जमीन पर कब्जा नहीं हट सका है।

सबसे अधिक पहुंचती हैं शिकायतें 

अगर एक साल के भीतर आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस को लिया जाए तो सबसे अधिक राजस्व विभाग की शिकायतें होती हैं। इसमें सरकारी जमीनों पर कब्जे की शिकायतें शामिल हैं।

किसी ने पार्क तो किसी ने जमीन पर किया कब्जा

अगर शिकायतों की बात की जाए तो किसी ने पार्क तो किसी ने जमीन पर कब्जा किया है। जिला प्रशासन ने जमीन को कब्जा मुक्त करा लिया है।

यह है जमीन का विवरण

जिले का नाम, कुल प्राप्त शिकायतें, निस्तारित शिकायतों की संख्या, कुल जमीन

- आगरा, 3067, 2212, 288.45 हेक्टेअर

- फीरोजाबाद, 3500, 3233, 612.85 हेक्टेअर

- मथुरा, 3753, 3732, 1466.66 हेक्टेअर

- मैनपुरी, 4325, 4287, 349.54 हेक्टेअर

यह हैं अवशेष शिकायतें

जिले का नाम, अवशेष शिकायतें, कुल जमीन

- आगरा, 61, 4.29 हेक्टेअर

- फीरोजाबाद, 39, 1.04 हेक्टेअर

- मथुरा, 21, 3.60 हेक्टेअर

- मैनपुरी, 38, 0.13 हेक्टेअर

- भू माफिया या फिर सरकारी जमीन पर अतिक्रमण करने वालों की जो भी शिकायतें मिलती हैं, उन पर सख्त कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं। तीस जून तक 2717 हेक्टेअर जमीन को कब्जा मुक्त कराया जा चुका है।

अमित गुप्ता, मंडलायुक्त 

Edited By: Tanu Gupta