आगरा, जागरण संवाददाता। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव खत्म हो चुका है। अब जिला व क्षेत्र पंचायतों के साथ ही ग्राम पंचायतों का गठन होना है।शासन से किसी भी दिन इनके गठन की तारीखों की घोषणा हो सकती है। इस बार जिला पंचायत की कमान युवाओं के हाथों में होगी। क्योंकि 51 सदस्यों में से 36 सदस्य 50 साल से कम उम्र के चुनकर आए हैं। जिला पंचायत के सदन में सबसे अधिक संख्या 30 से 40 उम्र के युवा सदस्यों की होगी। इस उम्र के 17 सदस्य चुने गए हैं।

कहते हैं राजनीति में कोई उम्र नहीं होती। चुनाव लड़ने की निम्नतम उम्र तो निर्धारित है लेकिन अधिक उम्र की कोई सीमा नहीं है। वार्ड 34 से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीते जगदीश प्रसाद को ही ले लीजिए। उन्होंने 70 साल की उम्र में यह चुनाव जीतकर दूसरे युवा प्रत्याशियों को धूल चटा दी। जगदीश प्रसाद जिले के सबसे अधिक उम्र के जिला पंचायत सदस्य चुने गए हैं। वहीं, सबसे कम उम्र की सदस्य वार्ड 43 से चुनी गई हैं। इस वार्ड से 23 साल की आरती सदस्य हैं। जिला पंचायत के सदन में 30 से 40 साल के युवा सदस्यों का दबदबा रहेगा। इसके बाद सबसे अधिक संख्या 50 से 60 उम्र के सदस्यों होगी। इस उम्र के 14 सदस्य जिला पंचायत सदस्य बने हैं। 20 से 30 साल के बीच आठ सदस्य हैं। 40 से 50 साल के बीच के 11 सदस्य चुने गए हैं। 60 से 70 साल के बीच के सिर्फ एक ही सदस्य ने चुनाव जीता है।

भाजपा-बसपा में संघर्ष

जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए भाजपा व बसपा में रस्साकशी चल रही है। भाजपा समर्थित जहां 19 सदस्य चुनाव जीते हैं वहीं, बसपा के समर्थन से 18 सदस्य जिला पंचायत के सदन में पहुंचे हैं। दोनों ही दलों की ओर से अध्यक्ष पद की दावेदारी की जा रही है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप