आगरा, जागरण संवाददाता। स्मार्ट सिटी के कार्यों को तेजी से पूरा कराने पर जोर दिया जा रहा है। 31 अगस्त को 19 प्रोजेक्ट पूरे हो जाएंगे। वर्तमान में आगरा स्मार्ट सिटी देश में चौथे नंबर पर है। चार साल पूर्व आगरा का चयन हुआ था।

आगरा स्मार्ट सिटी लि. के सीईओ निखिल टीकाराम ने बताया कि आधा दर्जन कार्य पूरे हो चुके हैं। बाकी कार्य निर्धारित अवधि के भीतर पूरे होंगे। ताजगंज और उसके आसपास के नौ वार्ड में एक हजार करोड़ रुपये से विकास कार्य कराए जाएंगे।

283 करोड़ से बना है कमांड एंड कंट्रोल सेंटर

नगर निगम में 283 करोड़ रुपये से कमांड एंड कंट्रोल सेंटर बना है। इसके तहत 1250 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।

स्मार्ट सिटी एक नजर में

- नौ जनवरी 2017 को आगरा स्मार्ट सिटी प्रा. लि. का गठन हुआ।

- दाराशॉ कंपनी का प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसलटेंट में चयन हुआ।

- 14 सितंबर, 2017 से कंपनी ने कार्य शुरू किया

ये हैं 19 प्रोजेक्ट

- कार्य का नाम : डेवलपमेंट ऑफ हेरिटेज वाक। लागत 3.46 करोड़। शुरुआत छह मई 2018।

- सात चौराहों का सुंदरीकरण। लागत 6.97 करोड़। शुरुआत 19 जून 2018।

- ताजमहल के आसपास सुंदरीकरण का कार्य। लागत 3.08 करोड़। शुरुआत 23 अगस्त 2018।

- दरेसी रोड पर विकास कार्य। लागत 97 लाख। शुरुआत 29 सितंबर 2018।

- माइक्रोस्किल डेवलपमेंट सेंटर। लागत दो करोड़। शुरुआत दस मई 2018।

- फतेहाबाद रोड का सुंदरीकरण। लागत 105 करोड़। 29 अगस्त 2018।

- आठ लोकेशन पर पब्लिक टॉयलेट का निर्माण। लागत 3.99 करोड़। शुरुआत दस मई 2018।

- मास्टर सिस्टम इंटीग्रेटर। लागत 282 करोड़। शुरुआत 29 अगस्त 2018।

- स्ट्रीट वेंडिंग जोन का निर्माण। लागत 3.33 करोड़। शुरुआत 22 जून 2018।

- नगर निगम ताजगंज के स्कूल का सुंदरीकरण। लागत 1.24 करोड़। शुरुआत 11 अक्टूबर 2018।

- डिजिटल एजुकेशन ताजगंज इंटर कॉलेज। लागत 61 लाख। शुरुआत 10 मई 2018।

- वूमेन डिस्ट्रेस और हेल्थ सेंटर। लागत 3.40 करोड़। शुरुआत 22 दिसंबर 2018।

- जंक्शन इंप्रूवमेंट, पैन सिटी। लागत 2.22 करोड़। शुरुआत 22 दिसंबर 2018।

- इंप्रूवमेंट ऑफ ताज ईस्स्ट ड्रेन। लागत 26.09 करोड़। शुरुआत 22 दिसंबर 2018।

- रीहेबिलिटेशन ऑफ मेजर रोड। लागत 99.36 करोड़। शुरुआत एक मार्च 2019।

- रीहेबिलिटेशन ऑफ माइनर रोड (सीसी रोड)। लागत 79.83 करोड़। शुरुआत 9 मई 2019।

- रीहेबिलिटेशन आफ माइनर रोड (डामर रोड)। लागत 74.62 करोड़। शुरुआत नौ मई 2019।

- सालिड वेस्ट मैनेजमेंट। लागत 3.83 करोड़। शुरुआत नौ मई 2019।

- चौबीस घंटे वाटर सप्लाई मीटङ्क्षरग स्काडा सिस्टम। लागत 142 करोड़। शुरुआत नौ मई 2019।

- सीवरेज नेटवर्क। लागत सौ करोड़। शुरुआत नौ मई 2019। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप