आगरा, जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण काल में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने और निरोगी रहने के लिए लोगों का रुझान साइकिल के प्रति बढ़ा है। पिछले दो माह में साइकिल की बिक्री में 50 फीसद तक की बढ़ाेतरी हुई है। मांग बढ़ने से दुकानदार खुश हैं, लेकिन मांग के अनुरूप सप्लाई नहीं हो पा रही है। इसका कारण लुधियाना से साइकिल के पाटर्स की डिलीवरी में कमी होना है। साइकिल का कारोबार करने वाले पारस ने बताया कि पिछले दो माह में स्थिति थोड़ी सही हुई है, लेकिन अभी भी सप्लाई में समय लग रहा है। साइकिल की बिक्री में बढ़ोतरी होने के पीछे साइकिल विक्रेता स्वास्थ्य के प्रति लोगों की बढ़ती जागरूकता को मानते हैं। उनका कहना है कि इस समय कोई भी व्यक्ति बीमार नहीं होना चाहता। जिम भले ही खुल गए हो, लेकिन अभी अधिकांश लोगों ने जिम से दूरी बनाई है। ऐसे में लोग साइकिलिंग को कर अपने अाप को फिट रख रहे हैं।

साइकिल की कीमत और आयु वर्ग

12 सौ से तीन हजार रुपये - 2 से 3 साल के बच्चों की साइकिल

दो से चार हजार रुपये - छह से 10 साल की उम्र के बच्चों के लिए

तीन से छह हजार रुपये - बिना गियर की साइकिल, इनकी सबसे ज्यादा डिमांड रहती है।

सात हजार से 30 हजार रुपये तक - गियर वाली साइकिल

सात हजार से 20 हजार तक - घर में इस्तेमाल होने वाली एक्सरसाइज साइकिल

500 से अधिक दुकानें

आगरा में साइकिल की 500 से अधिक दुकानें हैं। पीपल मंडी साइकिल का बड़ा बाजार है। इसके अलावा सदर, कमला नगर, हरीपर्वत, लोहामंडी, रामबाग, बोदला में भी साइकिल की दुकानें हैं। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021