आगरा, जागरण संवाददाता। सिकंदरा क्षेत्र के एक शापिंग माल में डाक्टर दंपती को एटीएम कार्ड से भुगतान के बाद भी सामान नहीं दिया गया। डाक्टर दंपती ने इसका विरोध किया तो  उनकी सुनवाई ही नहीं हुई। इस पर वह थाने पहुंचे, महिला डाक्टर को वहां हेल्प डेस्क पर कोई महिला पुलिसकर्मी नहीं मिली। दंपती ने माल के स्टाफ पर अपने साथ धोखाधड़ी की तहरीर सिकंदरा थाने पर दी है।

मामला सिकंदरा थाना क्षेत्र के एक शापिंग माल का है। बोदला क्षेत्र निवासी डाक्टर शशिकांत और उनकी पत्नी वीनम चतुर्वदी गुरुवार की शाम को माल में खरीददारी करने गए थे। डाक्टर शशिकांत ने बताया उन्होंने माल से 4429 रुपये का सामान खरीदा। इसका भुगतान एटीएम कार्ड से किया। उनके खाते से रकम ट्रांसफर होने का मैसेज मोबाइल पर आ गया। उन्होंने वहां तैनात कर्मचारी से अपना सामान क्लियर करने की कहा मगर, कर्मचारी ने उनसे कहाकि उसके खाते में अभी रकम ट्रांसफर नहीं हुई है । इसलिए वह माल नहीं देगा। उन्होंने उसे मोबाइल पर आया मैसेज दिखाया, उससे कहाकि रकम उसकी कंपनी के खाते में ट्रांसफर हो गयी है।  मगर, स्टाफ ने उनकी बात नहीं सुनी। उसका कहना था कि वह 24 घंटे बाद अपना सामान ले जाएं। खाते में ट्रांसफर हुई रकम भी वह 24 घंटे बाद ही वापस करेगा। उन्होंने इसे ग्राहक के साथ धोखाधड़ी बताया तो स्टाफ अभद्रता पर उतर आया। इस पर वह अपनी शिकायत लेकर थाने गए। डाक्टर वीनम चतुर्वेदी का आरोप है कि थाने की हेल्प डेस्क पर कोई महिला पुलिसकर्मी नहीं थी। उनकी शिकायत सुनकर तहरीर लेने की जगह पुलिसकर्मी शापिंग माल के  स्टाफ का ही पक्ष लेने लगे। काफी जद्दोजहद के बाद थाने पर उनकी तहरीर ली गयी। उक्त मामले की शिकायत उन्होंने अधिकारियों से भी की है । 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस