आगरा, जेएनएन। ऑनलाइन सामान मंगवाने में यदि आपके साथ भी धाेखाधड़ी हो चुकी है। मोबाइल की जगह निकल चुका है पत्थर या कुछ और तो सावधान हो जाएं। ये गलती कपंनी की नहीं बल्कि माल को इधर से उधर ले जाने वाले ट्रक चालक की है। ट्रक चालक और अपराधियों की मिली भगत का इसी तरह का मामला वृंदावन में पकड़ में आया है। दरअसल यहां एक आनलाइन शापिंग कंपनी के सील बंद डिब्बों से आधा माल चुराने वाले गिरोह का वृंदावन पुलिस ने रविवार को पर्दाफाश कर दिया। गिरोह के मास्टरमाइंड समेत पुलिस ने चार को गिरफ्तार किया है। आरोपितों को पुलिस ने जेल भेज दिया।

इस तरह आया पकड़ में 

हैदराबाद से कंटेनर में आनलाइन शापिंग कंपनी अमेजन का सामान भरकर अलवर जिले के थाना तिजारा क्षेत्र के गांव ढाकपुरी निवासी वजीव, हरियाणा के पलवल जिले के उटावई थाना क्षेत्र के गांव रनपाला खुर्द झाडा निवासी इमरान, थाना वहीन क्षेत्र के गांव अलीमेव निवासी वसीम सोनीपत को जा रहे थे। वजीव और इमरान चालक थे, जबकि वसीम हेल्पर था। गरुण गोविंद मंदिर के समीप तीनों कंटेनर को खड़ा कर दिया। तीनों ने अपने साथी पलवल के थाना हसनपुर क्षेत्र के गांव मौहर का नगला निवासी शमीम को बुला लिया। इंस्पेक्टर वृंदावन अनुज कुमार ने बताया, कंटेनर की सील तोड़कर कंपनी के डिब्बों से माल निकाल रहे थे। चेकिंग के दौरान कंटेनर के संदिग्ध खड़े होने पर चेक किया। चारों को डिब्बों से माल चुराते हुए पकड़ लिया।

इस तरह बदलते थे सामान 

शमीम इस गिरोह का मास्टरमांइड है। वह डिब्बों की सील तोड़कर उससे सामान निकालने के बाद हूबहू ऐसी ही सील लगाने में माहिर है। पुलिस ने कंटेनर को जब्त कर लिया है। आरोपितों से कंटेनर की सील यंत्रों में एक राड, एक एलंकी, एक जंजीर, एक लोहे की कील, सील लगाने का केमिकल भरी निडिल, तीन चाबी और एक दर्जन कार्टून सील्ड बरामद किए गए है। जैंत पुलिस चौकी प्रभारी अरविंद सिंह, गौरव वर्मा, कांस्टेबल धीरेंद्र कुमार, जाहिद हुसैन, संदीप कुमार भी टीम शामिल थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस