जागरण संवाददाता, आगरा: रणभेरी भले ही पड़ोसी राज्यों में बजी हो, लेकिन चुनावी तैयारियां रालोद ने भी शुरू कर दी हैं। पार्टी ने दूसरे दलों और समाज में सेंधमारी करना शुरू कर दिया है। भाजपा और दूसरे दलों में आस्था जताने वाले 150 से अधिक वाल्मीकि समाज के लोगों को रालोद ने सदस्यता दिलाने का दावा किया।

जनता में खोई पहचान बनाने के लिए रालोद ने अभी से प्रयास शुरू कर दिए हैं। देखना यह है कि इन प्रयासों को कितनी सफलता मिलती है। कभी आगरा के फतेहपुर सीकरी क्षेत्र में रालोद का दबदबा था, लेकिन आज वोट बैंक पूरी तरह उजड़ चुका है। इस इलाके को मिनी छपरौली के नाम से भी जाना जाता है, लेकिन पिछले दो विधानसभा और लोकसभा चुनावों में रालोद यहां खाली हाथ ही रहा है।

संजय प्लेस स्थित अवध बैंकट हाल में रालोद ने कार्यक्रम आयोजित कर सभी को सदस्यता दिलाई। इस दौरान पश्चिमी उप्र अध्यक्ष अनिल चौधरी, प्रदेश प्रवक्ता कप्तान सिंह चाहर ने भाजपा पर प्रहार किया। उन्होंने कहा महागठबंधन पार्टियों की नहीं, जनता की मांग है। सभी दलों के कार्यकर्ता, आम जनता केंद्र की सरकार से त्रस्त हैं। भाजपा ने सत्ता में आने के लिए झूठे वादे किए, लेकिन अब सब समझ चुके हैं। एससी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के विरुद्ध केंद्र सरकार के जाने को उन्होंने गलत बताया। नेताओं ने कहा न्यायपालिका का सम्मान करना चाहिए। अयोध्या में मंदिर निर्माण की मांग करने पहुंचे डॉ. प्रवीण तोगड़िया समर्थकों पर लाठीचार्ज पर उन्होंने कहा कि केंद्र की सरकार अपने मुद्दों, वादों से ही भटकी हुई है। इस दौरान जिलाध्यक्ष मालती चौधरी, नरेंद्र बघेल, चौधरी नेम सिंह, उमेश शुक्ला, रिपुदमन आदि मौजूद थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस