आगरा, जागरण संवाददाता। आगरा में रविवार को पुलिस ने नकली और सैंपल की दवाओं का जखीरा नष्ट कराया। इनमें 58 बोरी नकली और 91 बोरी दवाएं सैंपल की थीं। इसके अलावा दवाओं के आठ और बंडल भी पुलिस ने नष्ट कराए। पुलिस ने इन दवाओं को विशेष मुख्य न्यायाधीश की अदालत से अनुमति लेकर नष्ट कराया।

कोतवाली के मालखाने में करीब 22 वर्ष से नकली और सैंपल की दवाओं का जखीरा रखा हुआ था। यह दवाएं वर्ष 1999 से वर्ष 2014 के दौरान दर्ज हुए 14 मुकदमों से संबंधित थी। सभी दवाएं कई साल पहले ही एक्सपायर हो चुकी थीं। इसके चलते इनसे दुर्गंध आने लगी थी। इसके चलते पुलिसकर्मी मालखाने की ओर भी जाने से कतराते थे। एक्सपायर दवाओं और दुर्गंध से बीमारी फैलने की भी आशंका थी।

इसके मद्देनजर इन दवाओं को नष्ट करने का फैसला किया गया। इंस्पेक्टर कोतवाली राजेश कुमार पांडेय ने बताया कि विशेष मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट कोर्ट से अनुमति लेने के बाद दवाओं का जखीरा नष्ट कराया गया है। इन दवाओं को कुबेरपुर स्थित खत्ताघर में ले जाकर नष्ट कराया गया है। नष्ट कराई गई दवाओं का नमूना लेकर रखा गया है।

मुकदमों से संबंधित नष्ट की गईं दवाओं का विवरण

वर्ष नष्ट की गईं दवाएं

1999 दो बंडल

1999 तीन बंडल

1999 दो बंडल

2006 एक बंडल

2007 तीन बोरी नकली दवाएं

2008 33 बोरी नकली दवाएं

2008 22 बोरी नकली दवाएं

2010 एक बंडल सैंपल की दवाएं

2011 35 बोरी सैंपल की दवाएं

2011 11 बोरी सैंपल की दवाएं

2012 18 बोरी सैंपल की दवाएं

2013 16 बोरी सैंपल की दवाएं

2014 नौ बोरी सैंपल की दवाएं

2014 दो बोरी सैंपल की दवाएं 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप