आगरा, राजीव शर्मा। जिला योजना के तहत वित्तीय वर्ष 2020-21 में 510 करोड़ रुपये से अधिक खर्च करने की तैयारी है। इसके लिए 42 विभागों से बजट के प्रस्ताव मांग लिए गए हैं। ये धनराशि विभिन्न योजनाओं और विकास पर खर्च की जाएगी। प्रस्तावों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। मगर, 14 विभाग ऐसे हैं, जिन्हें पिछले बजट में से धेला भी नहीं मिला।

सरकार की विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों के लिए जिला योजना के तहत भी बजट प्रदान किया जाता है। वित्तीय वर्ष 2019-2020 की तुलना में इस बार 48 करोड़ रुपये अधिक का बजट रखने की तैयारी है। पिछली बैठक में भी जो बजट स्वीकृत हुआ था, उसमें से कई विभागों को एक रुपया भी नहीं मिला। इसके चलते जिले में विकास के कई कार्य लटके रहे। सड़क और पुल के लिए भी बजट नहीं मिला। ऐसे में लोक निर्माण विभाग के सामने बजट की समस्या रही। शासन से मिली धनराशि से ही काम चलाया। जिला योजना की इस बार की बैठक जल्द होनी है। इसमें पिछले स्वीकृत बजट पर मंथन के साथ ही इस वित्तीय वर्ष के प्रस्तावों पर भी चर्चा होगी।

उपमुख्यमंत्री से मांगी जा रही तारीख

जिला योजना 2020-21 की बैठक उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा की मौजूदगी में होगी। वह जिले के प्रभारी मंत्री भी हैं। विकास भवन के अधिकारी संपर्क कर बैठक के लिए उनसे जल्द समय मांग रहे हैं।

पिछले साल इनको स्वीकृत हुआ था

बजट, मिला एक रुपया भी नहीं

- 65.21 करोड़ रुपये सड़क एवं पुल

- 60 करोड़ रुपये परिवार कल्याण

- 6.22 करोड़ रुपये पिछड़ी जाति कल्याण

- 4.36 करोड़ रुपये समाज कल्याण

- 2.88 करोड़ रुपये महिला कल्याण

- 1.90 करोड़ रुपये पर्यटन विभाग को

- 1.65 करोड़ रुपये सिंचाई एवं जल संसाधन

- 1.39 करोड़ रुपये सहकारिता

- 01 करोड़ रुपये शिल्पकार प्रशिक्षण

- 70 लाख रुपये आयुर्वेद

- 25 लाख रुपये होम्योपैथिक विभाग

- 25 लाख रुपये ग्रामीण आवास

- 04 लाख रुपये पर्यावरण

- 1.74 लाख रुपये सेवा नियोजन

इस बार इन्होंने मांगा

सबसे अधिक बजट

-87.43 करोड़ रुपये सड़क एवं पुल

- 75.89 करोड़ रुपये रोजगार कार्यक्रम

- 66.35 करोड़ रुपये ग्रामीण स्वच्छता (पंचायतीराज)

- 60 करोड़ रुपये परिवार कल्याण

- 52.37 करोड़ रुपये प्राथमिक शिक्षा

- 40 करोड़ रुपये ग्राम्य विकास के विशेष कार्यक्रम

- 30.20 करोड़ रुपये माध्यमिक शिक्षा

- 10.11 करोड़ रुपये वन विभाग

- 4.36 करोड़ रुपये समाज कल्याण

- 2.88 करोड़ रुपये महिला कल्याण

फैक्‍ट

- 510.09 करोड़ रुपये का बजट जिला योजना में रखने की तैयारी

- 462.59 करोड़ रुपये का बजट था वर्ष 2019-20 का

- 238.17 करोड़ रुपये ही मिल पाए थे विभिन्न विभागों को

- 442.78 करोड़ रुपये का बजट था वर्ष 2018-19 का

जिला योजना के प्रस्ताव तैयार कर लिए गए हैं। 42 विभागों से 510 करोड़ रुपये से अधिक के प्रस्ताव आए हैं। उपमुख्यमंत्री से बैठक के लिए समय मांगा जा रहा है।

सुभाष बाबू, अपर सांख्यिकी अधिकारी 

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस