जागरण संवाददाता, आगरा: प्रदेश में गो-पालकों और ¨हदूवादियों की हत्याएं काबीना मंत्री आजम खां के इशारे पर हो रही हैं। सरकार अपराधियों को संरक्षण प्रदान कर रही है। प्रशासन सरकार का पिट्ठू बना है। समय आ गया है कि ¨हदू संगठित होकर इसका जवाब दें।

ये कहना है फायर ब्रांड ¨हदू नेता साध्वी प्राची का। विहिप नेता अरुण माहौर की श्रद्धांजलि सभा में उन्होंने कहा कि सरकार ¨हदुओं के धैर्य की परीक्षा न ले। हाल के दिनों में गो-पालकों व ¨हदू नेताओं की हत्याओं की कई घटनाएं हुई हैं, जिनमें नगर विकास मंत्री आजम खां का हाथ है। वे हत्यारों को संरक्षण दे रहे हैं। सपा सरकार में उप्र के हालात कश्मीर जैसे हो गए हैं, जहां ¨हदू असुरक्षित हैं। मुस्लिम तुष्टीकरण चरम पर है। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री मायावती पर भी निशाना साधा। सवाल किया कि अरुण माहौर के परिवार को अब तक पुलिस सुरक्षा क्यों मुहैया नहीं कराई।

न सोचें कि मेरे तेवर ठंडे हो गए: कठेरिया

केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री रामशंकर कठेरिया ने कहा कि जिस तरह से एक ही समुदाय के लोगों की हत्याएं हो रही हैं, उससे सरकार की मंशा पता चलती है। प्रशासन इस मुगालते में न रहे कि केंद्रीय मंत्री बनने के बाद उनके तेवर ठंडे पड़ गए हैं। अगर पुलिस ने डंडा उठाया, तो समाज के हित में लाठी उठाई जाएगी। उन्होंने बताया कि आग ठंडी न पड़ जाए, इसलिए बुधवार व शुक्रवार को हर गांव और शहर के हर वार्ड में दोपहर तीन से पांच बजे तक शोक सभाएं होंगी। अस्थि कलश यात्रा की प्लानिंग बनाई जा रही है।

---

छावनी बनाया शोकसभा स्थल

जयपुर हाउस के रामलीला मैदान में आयोजित श्रद्धांजलि सभा पार्क को चारों ओर से पुलिस और पीएसी ने घेर रखा था। सभी प्रवेश रास्तों पर पुलिस की ओर से तीन-तीन बैरियर लगा दिए गए थे।

---------

दादरी और आगरा में अंतर क्यों?

वक्ताओं ने दादरी के अखलाक के परिवार को 45 लाख रुपये, मकान और सरकारी नौकरी देने और अरुण माहौर के परिवार को 15 लाख रुपये देने पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि यह भेदभाव केवल इसलिए है, क्योंकि अरुण मुसलमान नहीं थे।

---

अब और न कटे गाय

अधिकांश वक्ताओं ने उपस्थित जन समुदाय से अपील की कि अरुण को सच्ची श्रद्धांजलि तभी होगी, जब सभी सौगंध लें कि आगरा में अब गाय न कटने पाए।

---

चौराहे का बदले नाम, लगे प्रतिमा

सभा में दो विशेष मांगे रखी गई। विजय शिवहरे ने मांग की कि मीरा हुसैनी चौराहे का नाम बदलकर अरुण माहौर चौराहा रखा जाए। विधायक योगेंद्र उपाध्याय ने उनकी मूर्ति लगाने की मांग की।

---

51 हजार की आर्थिक मदद

भाजपा नेता राजकुमार चाहर ने मंच से घोषणा की वह अरुण के परिवार को 51 हजार रुपये की आर्थिक मदद देंगे।

---

-----

तीखे बोल

खींच दो रेखा, तौल लो ताकत

सांसद चौधरी बाबूलाल ने अल्प संबोधन में उन्होंने साफ कहा कि जिन्हें ताकत का मुगालता हो, वह रेखा खींच लें। फिर पता चल जाएगा कि ताकतवर कौन है?

---

अभी नहीं तो कभी नहीं

विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने कहा कि जवाब देने का समय आ गया है। अब नहीं बोले, तो आगे भी नहीं बोल पाएंगे। आर-पार की लड़ाई के लिए कार्यकर्ता तैयार रहें।

---

छिपे लोग हों बेनकाब

विधायक योगेंद्र उपाध्याय ने हत्याकांड के पीछे छिपे लोगों को बेनकाब करने की मांग की। कहा कि अरुण माहौर की हत्या प्लानिंग बनाकर की गई, जिसमें सामने आए आरोपियों के अलावा भी कुछ लोग शामिल हैं।

अंग्रेजी हुकूमत मत बनो

पूर्व मेयर अंजुला माहौर ने कहा कि इस सरकार में प्रतिबंध ही प्रतिबंध हैं। बोलने पर प्रतिबंध, कहीं आने जाने पर प्रतिबंध, किसी से मिलने पर प्रतिबंध, विरोध पर प्रतिबंध। यह आजाद भारत का उत्तर प्रदेश है या अंग्रेजी हुकूमत का। भाजपा पार्षद दल की नेता और ब्रजक्षेत्र उपाध्यक्ष कुंदनिका शर्मा ने कहा के चुप बैठने का समय नहीं है।

-----------

ये भी रहे वक्ता

मुरारी लाल फतेहपुरिया, पूर्व मेयर बेबीरानी मौर्य, पूर्व मंत्री डॉ. रामबाबू हरित, भाजपा पूर्व महानगर अध्यक्ष प्रमोद गुप्ता, विजय गोयल, नवीन जैन, श्याम भदौरिया, विजय शिवहरे, दीपक अग्रवाल, अशोक कोटिया, वीनू लवानिया, शशांक चौधरी, रामकुमार शर्मा।

ये रहे मौजूद

विहिप प्रांत संगठन मंत्री राघवेंद्र जी, आरएसएस प्रांत संपर्क प्रमुख अशोक कुलश्रेष्ठ, सुभाष बोहरा, भाजपा जिलाध्यक्ष अशोक राना, महानगर अध्यक्ष नगेंद्र दुबे गामा, वीरेंद्र अग्रवाल, जितेंद्र फौजदार, डॉ. रामेश्वर चौधरी, डॉ. जीएस धर्मेश, ओम प्रकाश चलनी, मोहन सिंह चाहर, अवधेश रावत, ललित चतुर्वेदी, सुनील दुबे, बॉबी वर्मा, भरत शर्मा, बांकेलाल अग्रवाल, शरद चौहान, अनिल चौधरी, अरुण पाराशर, दीपक ढल, सोनू चौधरी, संदीप उपाध्याय, विहिप नेता मदन वर्मा, सुरेंद्र चौधरी, अजय यादव, राजेंद्र गर्ग, राजीव शर्मा, प्रमेंद्र जैन, राकेश त्यागी, रवि दुबे मौजूद थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस