मेलबर्न, पीटीआइ। भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने बुधवार को घोषणा की कि 2022 उनका अंतिम सत्र होगा क्योंकि उनका शरीर थक रहा है और उनके अंदर प्रत्येक दिन के दबाव के लिए ऊर्जा और प्रेरणा अब पहले जैसी नहीं है। सानिया ने मार्च 2019 में बेटे के जन्म के बाद टेनिस में वापसी की थी लेकिन कोरोना वायरस महामारी उनकी प्रगति के आड़े आ गई। 35 वर्षीय सानिया ने अपनी जोड़ीदार नादिया किचनोक के साथ आस्ट्रेलियन ओपन के महिला डबल्स के पहले दौर में हारने के बाद संन्यास की यह घोषणा की।

सानिया ने कहा, 'इसके लिए काफी सारे कारण हैं। यह इतना सरल नहीं है कि हां, अब मैं खेलूंगी नहीं। मुझे महसूस हो रहा है कि मुझे उबरने में लंबा समय लग रहा है। मुझे महसूस होता है कि मेरा बेटा अभी तीन साल का है और मैं उसके साथ इतनी यात्रा करके उसे जोखिम में डाल रही हूं, और यह ऐसी चीज है जिसका मुझे ध्यान रखना होगा।'

उन्होंने कहा, 'मेरा शरीर भी अब कमजोर हो रहा है। आज मेरे घुटने में सचमुच काफी दर्द हो रहा है। मैं यह नहीं कह रही हूं कि इसके कारण ही हम हारे, लेकिन मुझे ऐसा लगता है कि मुझे उबरने में थोड़ा समय लग रहा है क्योंकि मेरी उम्र बढ़ रही है।'

सानिया के नाम छह मिकस्ड डबल्स ट्राफी सहित छह ग्रैंडस्लैम खिताब हैं। वह भारत की सबसे सफल महिला टेनिस खिलाड़ी के रूप में इस खेल को अलविदा कह रही हैं। सानिया स्विटजरलैंड की लेजेंड खिलाड़ी मार्टिना हिंगिस की जोड़ीदार रहने के दौरान डबल्स में विश्व की नंबर-1 जोड़ी रही थी। इसके साथ ही सानिया सिंगल्स रैंकिंग में शीष्र-30 तक पहुंची हैं और उनके करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग 27 है। हालांकि, कलाई में चोट लगने के बाद उन्होंने डबल्स पर ध्यान केंद्रित करने के लिए सिंगल्स में खेलना बंद कर दिया था।

 

Edited By: Viplove Kumar