मेलबर्न, एपी। आस्ट्रेलिया के एक न्यायाधीश ने दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविक का वीजा बहाल कर दिया है जो कोरोना टीका नहीं लगाने के कारण पिछले सप्ताह उनके यहां पहुंचते ही रद कर दिया गया था। सर्किट अदालत के न्यायाधीश एंथोनी केली ने सरकार को आदेश दिया कि फैसले के 30 मिनट के भीतर जोकोविक को मेलबर्न के क्वारंटाइन होटल से बाहर किया जाए।

जोकोविक भले ही अदालत की यह लड़ाई जीत गए हैं लेकिन सरकार ने उनका वीजा दूसरी बार रद करने की धमकी दी है। सरकारी वकील क्रिस्टोफर ट्रान ने फैसले के बाद न्यायाधीश को बताया कि आव्रजन, नागरिकता, आप्रववास सेवा और बहुसांस्कृतिक विभाग के मंत्री एलेक्स हाके तय करेंगे कि वीजा रद करने के लिए उन्हें निजी अधिकार का इस्तेमाल करना है या नहीं। इसके मायने हैं कि जोकोविक को फिर निर्वासन झेलना पड़ सकता है और वह 17 जनवरी से शुरू हो रहे आस्ट्रेलियन ओपन से बाहर हो सकते हैं।

केली ने सरकारी वकील से पूछा, अगर मंत्री अपने निजी अधिकार का इस्तेमाल कर ऐसा करेंगे तो जोकोविक तीन साल तक इस देश में नहीं लौट सकते। क्या मैं सही कह रहा हूं। इस पर ट्रान ने कहा कि जोकोविक पर तीन साल तक आस्ट्रेलिया आने में प्रतिबंध लगेगा। केली ने साथ ही संघीय सरकार को जोकोविक को कानूनी खर्चा देने आदेश दिया। उनके वकील ने कहा था कि इस मामले से जोकोविक के निजी, पेशेवर और उनके आर्थिक हितों पर सीधा प्रभाव पड़ रहा है। इस फैसले का समर्थन जोर-शोर से किया गया और मेलबर्न अदालत के बाहर करीब 50 समर्थकों के समूह ने फैसले के समर्थन में जश्न मनाया।

जोकोविक ने अपने निर्वासन और वीजा रद किए जाने को आस्ट्रेलिया के फेडरल सर्किंट और फैमिली अदालत में चुनौती दी थी। आस्ट्रेलिया सरकार ने गत बुधवार को मेलबर्न पहुंचते ही उनका वीजा रद कर दिया था क्योंकि कोरोना टीकाकरण नियमों में मेडिकल छूट पाने के मानदंडों पर वह खरे नहीं उतरते थे। जोकोविक ने कहा था कि उन्हें टीकाकरण का सबूत देने की जरूरत नहीं है क्योंकि उनके पास प्रमाण है कि वह पिछले महीने कोरोना संक्रमण का शिकार हुए थे। अदालत में पेश जोकोविक के दस्तावेजों में कहा गया है कि उन्होंने टीका नहीं लगवाया है।

मालूम हो कि आस्ट्रेलिया के चिकित्सा विभाग ने छह महीने के भीतर कोरोना संक्रमण के शिकार लोगों को टीकाकरण मे अस्थायी छूट दी है। सर्किट अदालत के न्यायाधीश केली ने पाया कि जोकोविक ने मेलबर्न एयरपोर्ट पर अधिकारियों को टेनिस आस्ट्रेलिया द्वारा उन्हें दी गई मेडिकल छूट के दस्तावेज सौंपे थे। जज ने जोकोविक के वकील निक वुड से पूछा,'सवाल यह है कि वह देश के कड़े कोरोना नियमों को पूरा करने के लिए वह और क्या कर सकते थे।'

जोकोविक के वकील ने स्वीकार किया कि वह और कुछ नहीं कर सकते थे। उन्होंने कहा कि जोकोविक ने अधिकारियों को समझाने की काफी कोशिश की कि आस्ट्रेलिया में प्रवेश के लिए वह जो कुछ कर सकते थे, उन्होंने किया। मामले की वर्चुअल सुनवाई कई बार बाधित हुई क्योंकि दुनिया भर से हजारों लोगों ने इसे देखने की कोशिश की थी। एक समय पर तो अदालत का लिंक हैक हो गया था। जोकोविक 20 बार ग्रैंडस्लैम जीत चुके हैं और एक खिताब जीतकर वह रोजर फेडरर तथा रफेल नडाल से आगे निकल जाएंगे। आस्ट्रेलियन ओपन उन्होंने नौ बार जीता है।

सिडनी टूर्नामेंट से हटीं बार्टी

एडिलेड, एपी। एडिलेड इंटरनेशनल में सिंगल्स और डबल्स दोनों खिताब जीतने के बाद शीर्ष रैंकिंग वाली एश्ले बार्टी ने सिडनी टेनिस क्लासिक टूर्नामेंट से नाम वापस ले लिया। अब वह आस्ट्रेलियन ओपन के लिए सीधे मेलबर्न जाएंगी। उन्होंने सोमवार को कहा,'यह असाधारण सप्ताह रहा है। हमने कई सिंगल्स और डबल्स मैच खेले और कोर्ट पर काफी समय बिताया। आस्ट्रेलियन ओपन के लिए तैयारी अच्छी है।'

आस्ट्रेलिया के निक किर्गियोस कोरोना संक्रमित होने के कारण सिडनी टूर्नामेंट से हट गए हैं। उन्होंने इसकी जानकारी देते हुए इंस्टाग्राम पर बताया कि अभी उनमे कोई लक्ष्ण नहीं हैं और सबकुछ सही रहा तो वह आस्ट्रेलियन ओपन में हिस्सा लेंगे।

प्रजनेश दूसरे दौर में पहुंचे

मेलबर्न, प्रेट्र। भारत के प्रजनेश गुणेश्वरन ने कोलंबिया के तीसरी वरीयता प्राप्त डेनियल इलाही गालान को सीधे सेटों में हराकर आस्ट्रेलियन ओपन क्वालीफायर के दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया। प्रजनेश ने गालान को 6-4, 6-4 से मात दी। अब उनका सामना जर्मनी के मैक्समिलियन मार्टरर और क्रोएशिया के निनो एस के बीच होने वाले मैच के विजेता से होगा।

Edited By: Sanjay Savern