न्यूयॉर्क, रायटर। यूएस ओपन में शनिवार को महिला सिंगल्स के फाइनल में सेरेना विलियम्स और चेयर अंपायर के बीच हुए विवाद ने टेनिस जगत को दो खेमों में बांट दिया है।

टेनिस की दुनिया के दिग्गज स्टार बिली जीन किंग ने ट्विटर पर लिखा कि अगर एक महिला भावुक होती है तो यह अजीब है और उसे इसके लिए जुर्माना भरना पड़ता है। वही काम यदि पुरुष करे तो उसे मुखर माना जाता है और उस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं होती है। धन्यवाद सेरेना इस दोहरे चरित्र को सामने लाने के लिए। ऐसी और आवाजें उठनी चाहिए।

वहीं, ऑस्ट्रेलिया की पूर्व नंबर एक महिला खिलाड़ी मार्गरेट कोर्ट ने कहा कि हमें हमेशा नियमों के हिसाब से चलना होता था। यह दुख की बात है कि एक खिलाड़ी नियमों से बड़ा होने की कोशिश करता है। उधर, जॉन मैक्लेनेरो ने सेरेना का समर्थन करते हुए कहा कि वह दोहरे चरित्र को लेकर सही हैं, इसको लेकर कोई सवाल नहीं है।

विश्व टेनिस के प्रमुख ने कहा कि सेरेना की घटना से सबक लेते हुए कोर्ट पर कोचिंग को रोकने के लिए सीख लेने की जरूरत है। डब्ल्यूटीए टूर मुख्य कार्यकारी ने सेरेना का बचाव किया है। वहीं, अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आइटीएफ) ने चेयर अंपायर रामोस का समर्थन किया।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal