मेलबर्न, एएफपी। अमेरिका की अनुभवी टेनिस स्टार सेरेना विलियम्स का चीन की वांग कियांग के हाथों हार के साथ ही साल के पहले ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियन ओपन से सफर समाप्त हो गया जबकि 15 वर्षीय कोरी गॉफ ने गत चैंपियन जापान की नाओमी ओसाका को हराकर टूर्नामेंट से बाहर कर दिया।

सेरेना का इंतजार बढ़ा : महिला सिंगल्स के तीसरे दौर में विलियम्स को 27वीं वरीय कियांग ने 6-4, 6-7, 7-5 से मात दी जिससे उनके रिकॉर्ड 24वें ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने का इंतजार बढ़ गया। सेरेना सात बार यहां खिताब जीत चुकी हैं लेकिन 2006 में तीसरे दौर में बाहर होने के बाद पहली बार इतनी जल्दी उनकी रवानगी हुई है। इस हार के बाद सेरेना भावुक नजर आईं।

वांग ने किया कोच को याद : चीन की दिग्गज टेनिस स्टार वांग के पूर्व कोच पीटर मैकनमारा की पिछले साल कैंसर से मृत्यु हो गई थी लेकिन वांग को लगता कि सेरेना पर मिली जीत का जश्न मनाने के लिए शुक्रवार को मेलबर्न पार्क पर उनके पूर्व कोच मौजूद थे। मैकनमारा ने वांग को सात साल तक कोचिंग दी थी। सेरेना को हराने के बाद भावुक वांग ने कहा, मैं अभी भी उनके सपने को पूरे करने की कोशिश करती हूं। मुझे लगता है कि वह ऊपर बैठे मुझे देख रहे थे। काश वह इस जीत को देखने के लिए कोर्ट के बगल में मौजूद होते।

कोरी का जलवा जारी : पहली बार ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेल रहीं गैरवरीय अमेरिका की गॉफ ने तीसरी वरीय ओसाका को 67 मिनट तक चले तीसरे दौर के मुकाबले में सीधे सेटों में 6-3, 6-4 से हराया। इस जीत के साथ ही गॉफ ने यूएस ओपन में इस खिलाड़ी से मिली पिछली हार का बदला भी ले लिया। इस दौरान गॉफ ने पहले सेट में एक बार और दूसरे सेट में दो बार ओसाका की सर्विस तोड़ी।

सेरेना भूत, गॉफ भविष्य : टूर्नामेंट में भाग ले रही सबसे कम उम्र की खिलाड़ी गॉफ ने इससे पहले सात बार की ग्रैंडस्लैम चैंपियन वीनस विलियम्स और अनुभवी सोराना क्रिस्टी को हराया था। सेरेना जहां 38 साल की हो गई हैं तो वही उनकी हमवतन गॉफ उनसे 23 साल छोटी हैं। दोनों के खेल में टेनिस के भूतकाल और भविष्य की झलक दिखी।

भीगी पलकों से विदा हुईं वोज्नियाकी : सेरेना की दोस्त और दुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी कैरोलिन वोज्नियाकी ने ऑस्ट्रेलियन ओपन के तीसरे दौर में मिली हार के साथ भीगी पलकों के साथ टेनिस को अलविदा कह दिया। वोज्नियाकी ने दिसंबर में ही कह दिया था कि यह उनका आखिरी टूर्नामेंट होगा। उन्हें ट्यूनीशिया की ओंस जाबुर ने 7-5, 3-6, 7-5 से हराया इसके साथ ही उनके सुनहरे करियर का अंत हो गया जिसमें उन्होंने 30 डब्ल्यूटीए खिताब जीते।

उन्होंने एकमात्र ग्रैंडस्लैम खिताब ऑस्ट्रेलियन ओपन के रूप में 2018 में जीता था। विश्व रैंकिंग में 78वें स्थान पर काबिज जाबुर से मिली हार के बाद वह अपने आंसू नहीं रोक सकीं। मैच के बाद प्रेस वार्ता में उनकी आंखे लाल और सूजी हुई थीं। उन्होंने मजाक में कहा, 'मैंने फोरहैंड पर गलती के साथ अपना करियर खत्म किया। मैं अपने पूरे कैरियर में इन चीजों पर मेहनत करती रही हूं।' उधर ऑस्ट्रेलिया की एश्ले बार्टी ने एलीना रेबाकिना को 6-3, 6-2 से हराकर चौथे दौर में प्रवेश किया।

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस