Move to Jagran APP

Year End 2022: इस साल टेक्नोलॉजी में क्या रहा ट्रेंड में, जानिए सब के बारे में विस्तार से

Technology Trends 2022 साल 2022 में टेक्नोलॉजी की दुनिया में क्या ट्रेंड छाया रहा। इस साल ऐसी ऐसी घटनाएँ भी घटी जिससे तकनीक का भविष्य भी देखने को मिला। साथ ही यह भी पता चला कि हमें इंटरनेट पर सुरक्षा रखना कितना महत्वपूर्ण है।

By Kritarth SardanaEdited By: Kritarth SardanaPublished: Fri, 23 Dec 2022 01:15 PM (IST)Updated: Fri, 23 Dec 2022 01:15 PM (IST)
Year Ender 2022: Technology Trends 2022 photo credit- Jagran file photo

नई दिल्ली, टेक डेस्क। टेक्नोलॉजी की दुनिया में हर साल कुछ ना कुछ अलग और नया होता है, जो उसे पिछले साल से अलग बनाता है। अब जब साल 2022 खत्म होने को है तो मौका है,ये सोचने का है कि इस साल कौन टेक्नोलॉजी की दुनिया में क्या क्या ट्रेंड में रहा।

2022 में टेक्नोलॉजी में क्या रहा ट्रेंड में

सन 2022 में पूरे साल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग ट्रेंड में चलता रहा। इसके साथ मेटावर्स, रोबॉट, क्रिप्टोकरेंसी, साइबर हमले और रैंसमवेयर में वृद्धि जैसे मामले भी ट्रेंड में रहे।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस- आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग इस साल भी चर्चा का विषय बना रहा। जब ChatGPT के नाम से एक AI मॉडल को नवंबर में टेस्टिंग के लिए दुनिया के सामने प्रदर्शित किया गया तो सब हैरान हो गए। ऐसा इसलिए क्योंकि यह एआई मॉडल आपके संकेतों के आधार पर प्रभावशाली ढंग से सामग्री (कंटेंट) लिख सकता है।

इसके अलावा Lensa AI जैसी कई एआई आधारित ऐप भी साल 2022 की दूसरी छमाही में खूब लोकप्रिय हुई जो यूजर्स की तस्वीरों के आधार पर कला (art) और चित्र (portraits) बनाते हैं। इसके साथ ही एक शोध में यह भी दावा किया गया कि भविष्य में एआई तकनीक हमें अपने पालतू जानवरों के साथ संवाद करने में भी मदद कर सकती है। हालांकि एआई तकनीक का सर्वश्रेष्ठ अभी काफी दूर है लेकिन हम तेजी से उस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।

मेटावर्स- इस साल फेसबुक ने आधिकारिक तौर पर अपनी कंपनी का नाम बदलकर 'Meta' कर दिया जिसके बाद यह शब्द बेहद लोकप्रिय हो गया। लोगों के बीच मेटा और मेटावर्स को जानने की उत्सुकता काफी तेज़ी से बढ़ गई। मेटावर्स शब्द का अर्थ एक ऐसी दुनिया से है जहां लोग वास्तविक रूप की जगह आभासी रूप से मौजूद रहते हैं। गौरतलब है कोरोना काल में AR (augmented reality) या VR (Virtual Reality) जैसे विभिन्न मेटावर्स समाधानों को लोगों ने तेजी से अपनाया जिससे उन्हें एक व्यापक अनुभव प्राप्त हुआ।

रोबॉट- रोबॉट सभी को अच्छे और आकर्षित लगते हैं। सैन फ्रांसिस्को में हाल ही में जरूरत पड़ने पर रोबोट को इंसानों को मारने की अनुमति देने की अपनी योजना को अब खत्म कर दिया है। रोबॉट के आ जाने से लगातार लोगों को उनकी नौकरी का डर सता रहा है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार रोबोट ने अब कुछ देशों में फ्रेंच फ्राइज़ बना रहे हैं। गाड़ी बनाने वाली कंपनी टेस्ला अपने कार्यबल को बदलने की योजना बना रही है। टेसला ने इस वर्ष ह्यूमनॉइड रोबोट को भी पेश किया जिससे रोबॉट का सुनहेरा भविष्य नज़र आ रहा है। 

साइबर अटैक - इंटरनेट का पूरी दुनिया में बड़े स्तर पर इस्तेमाल होने के बाद, साइबर हमलों में काफी बड़े स्तर पर बढ़ोतरी हो चुकी है। इस साल इसने पिछले साल के रेकॉर्ड तोड़ डाले। हाल ही में नई दिल्ली में मौजूद भारत का सबसे महत्वपूर्ण अस्पताल अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) हैकर्स के निशाने पर आ गया। यह रैंसमवेयर हमला चीन से हुआ जिससे AIIMS के सर्वर से डेटा चुरा लिया गया। एक रिपोर्ट के अनुसार 2022 की पहली छमाही में रैनसमवेयर हमलों में 51 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज हुई।

क्रिप्टोकरेंसी- क्रिप्टोकरेंसी अपनी शुरुआत से ही अस्थिर और अप्रत्याशित रही। यह चलती तो रही लेकिन लोगों के बीच इस साल भी यह विश्वसनीयता नहीं बना सकी।  

यह भी पढ़ें- 2023 में कैसी होगी टेक्नोलॉजी की दुनिया, जानिए क्या क्या बदलाव देखने को मिल सकते हैं 


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.