नई दिल्ली, टेड डेस्क। भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में चीनी कंपनियों का दबदबा जारी है। साल 2021 की चौथी तिमाही में शाओमी भारत का नंबर-1 स्मार्टफोन ब्रांड बन गया। इस दौरान शाओमी का मार्केट शेयर 12 फीसदी रहा। जबकि सैमसंग 19 फीसदी मार्केट शेयर के साथ दूसरे स्थान पर है। लेकिन तीसरे पायदान पर बड़ा उलटफेर करते हुए रियलमी ने एंट्री की है। जबकि लिस्ट में वीवो चौथे और ओप्पो पांचवे पायदान पर है। इसका खुलासा मार्केट एनालिस्ट फर्म Canalys की लेटेस्ट रिपोर्ट से हुआ है। 

Realme ने किया उलटफेर 

अगर टॉप -5 स्मार्टफोन ब्रांड की बात करें, तो साल 2021 की चौथी तिमाही में Realme के मार्केट शेयर में 49 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की है। जबकि इसी दौरान बाकी सभी टॉप-5 स्मार्टफोन कंपनियों के मार्केट शेयर में जोरदार गिरावट दर्ज की गई है। जिसने Xiaomi और Samsung की धड़कनें बढ़ा दी हैं। अगर मार्केट शेयर के बात करें, तो रियलमी को छोड़कर शाओमी को 22 फीसदी का नुकसान हुआ है। जबकि सैमसंग को 7 फीसदी, वीवो को 27 फीसदी, ओप्पो को 19 फीसदी का नुकसान हुआ है। जबकि कुल स्मार्टफोन मार्केट शेयर में 2 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई है।

मार्केट शेयर 

  1. Xiaomi - 21 फीसदी
  2. Samsung - 19 फीसदी
  3. Realme - 17 फीसदी
  4. Vivo - 13 फीसदी
  5. Oppo - 11 फीसदी

साल 2021 में भारत में 162 मिलियन स्मार्टफोन का शिपमेंट किया गया। जबकि साल 2020 में 144.7 मिलियन स्मार्टफोन का शिपमेंट किया गया था। ऐसे में एनुअल ग्रोथ रेट 12 फीसदी रही।

किसकी ग्रोथ रही सबसे ज्यादा

Xiaomi कंपनी वैसे तो भारत की नंबर-1 कंपनी है। लेकिन साल 2021 में कंपनी के मार्केट शेयर में 22 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। साल 2021 की चौथी तिमाही में कंपनी का मार्केट शेयर 21 फीसदी रहा, जो साल 2020 की चौथी तिमाही में 27 फीसदी था। इसी तरह Samsung का मार्केट शेयर पिछले साल के मुकाबले 7 फीसदी गिरकर 19 फीसदी रह गया। हालांकि इसी दौरान Realme का मार्केट शेयर 49 फीसदी बढ़कर 12 से 17 फीसदी हो गया। रियलमी को छोड़कर वीवो और ओप्पो के मार्केट शेयर में गिरावट दर्ज की गई। Realme ने साल 2021 की चौथी तिमाही में 24.2 मिलियन यूनिट की शिपमेंट की है।

Edited By: Saurabh Verma