नई दिल्ली, टेक डेस्क। भारत सरकार की तरफ से Tiktok समेत  59 फेमस चीनी ऐप को बैन कर दिया गया और बैन की वजह बताई गई ऐप से होने वाले राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा। हालांकि चीनी ऐप के बैन के बीच Twitter पर PUBG और Zoom ऐप भी ट्रेंड होने लगा। Twitter पर लोग सवाल पूछने लगे आखिर इतने सारे चीनी ऐप के बीच PUBG और Zoom ऐप को क्यों नहीं बैन किया गया। ऐसे में हम बता रहे हैं कि आखिर क्यों PUBG और Zoom वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप को बैन नहीं किया गया, जिसे खुद भारत सरकार ने न इस्तेमाल करने की सलाह दी थी।

चीनी नहीं साउथ कोरियाई गेम है PUBG

PUBG चीनी नहीं, दरअसल साउथ कोरियाई ऑनलाइन वीडियो गेम है। इसे ब्लूव्हेल की सहायक कंपनी बैटलग्राउंड ने बनाया है। इस गेम को शुरुआत में Brendan ने बनाया था, जो कि 2000 की जापानी फिल्म Battle Royal से प्रभावित था। चीनी कनेक्शन की बात करें, तो चीनी सरकार ने शुरुआत में PUBG गेम को चीन में इजाजत देने से मना कर दिया था। लेकिन बाद में चीन के सबसे बड़े वीडियो गेम पब्लिशर Tencent की मदद से इसे चीन में  पेश किया गया। इसके बदले PUBG में चीनी Tencent कंपनी को हिस्सेदारी देनी पड़ी। इसके बाद ही PUBG को चीनी सरकार की तरफ से इजाजत मिली। इसे चीन में Game of peace के नाम से पेश किया गया। इसी गेम को साउथ कोरिया में Kakao Games की तरफ से मार्केटेड और डिस्ट्रीब्यूट किया जाता है।

चीनी नहीं अमेरिकी ऐप है Zoom

Zoom कम्यूनिकेशन एक अमेरिकी कंपनी है। इसका हेडक्वार्टर कैलिफोर्निया के San Jose में है। कंपनी की बड़ी वर्कफोर्स चीन में काम करती है, जिस पर पिछले दिनों सर्विलांस और सेंसरशिप को लेकर सवाल खड़े किए गए थे। लॉकडाउन के दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप काफी फेमस हुआ। इसी दौरान डाटा सिक्योरिटी को लेकर सवाल उठे थे। हालांकि अब कंपनी इसमें सुधार का दावा कर रही है। 

(Written By- Saurabh Verma) 

Jagran HiTech #NayaBharat सीरीज के तहत इंडस्ट्री के लीडर्स और एक्सपर्ट्स ने क्या कहा है, ये जानने के लिए यहां क्लिक करें।

Posted By: Renu Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस