नई दिल्ली, टेक डेस्क। टेक्नोलॉजी कंपनी Microsoft के 44 मिलियन यानि की 4.4 करोड़ यूजर्स के नाम और पासवर्ड लीक हो गए हैं। कंपनी के इस सबसे बड़े सिक्युरिटी ब्रीच के बारे में पता चला है। इस सिक्युरिटी ब्रीच की वजह से यूजर्स के यूजरनेम और पासवर्ड लीक हो गए हैं। PC Mag की रिपोर्ट के मुताबिक, Microsoft थ्रेट रिसर्च टीम ने इन सभी अकाउंट्स को इस साल जनवरी और मार्च में स्कैन किया था और उनके डाटाबेस को तीन बिलियन लीक्ड क्रेडेंशियल्स के साथ मैच कराया। इस जांच में करीब 44 मिलियन यूजर्स के केडेंशियल्स मैच हुए।

Microsoft ने इस सिक्युरिटी ब्रीच के बारे में पता लगते ही यूजर्स को अकाउंट रिसेट करने के लिए लिंक भेज दिया है। एंटरप्राइज अकाउंट यूजर्स के एडमिनिस्ट्रेटर्स को अलर्ट कर दिया गया कि वो यूजर्स को अपने अकाउंट और केडेंशियल्स को रिसेट करने के लिए कहें। आपको बता दें कि ये कोई पहला मामला नहीं है जब यूजर्स डाटा लीक होने की घटना सामने आई हो। पिछले साल फरवरी में कैम्ब्रिज एनलिटिका Facebook डाटा लीक के बाद दुनियाभर में सोशल मीडिया कंपनी को निशाने पर लिया गया।

यही नहीं, इन टेक्नोलॉजी कंपनियों के लीक्स के अलावा स्मार्टफोन यूजर्स के डाटा लीक्स की भी कई घटनाएं इस साल देखने को मिली है। Microsoft के इस समय ज्यादातर इंटरप्राइजेज यूजर्स हैं, इसलिए इसका सबसे बड़ा असर इन्हीं यूजर्स पर पड़ने वाला है। Microsoft के Windows यूजर्स भी इस डाटा ब्रीच के शिकार हो सकते हैं। ऐसे में इन यूजर्स को अपने क्रैडेंशियल्स को अपडेट करने के अलावा अपने सिस्टम को भी लेटेस्ट सिक्युरिटी पैच के साथ अपडेट करना होगा। इस सिक्युरिटी ब्रीच पर फिलहाल किसी यूजर्स की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। अगर आप भी माइक्रोसॉफ्ट के यूजर्स हैं तो आप अपनी निजा जानकारियों को अपडेट कर लें। साथ ही साथ अपने यूजर नेम और पासवर्ड को बदलना मत भूलें। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021