नई दिल्ली, टेक डेस्क। आयरलैंड (Ireland) के डेटा प्राइवेसी नियामक ने सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक (Facebook) से उसके स्मार्ट ग्लास (Smart Glasses) में लगे एलईडी इंडिकेटर लाइट को डेमोंस्ट्रेट करने का आदेश दिया है। साथ ही लोगों को यह भी बताने को कहा है कि क्या स्मार्ट ग्लास के जरिए उनकी तस्वीर खींची जा रही हैं या नहीं। बता दें कि फेसबुक के स्मार्ट ग्लास को इस ही महीने लॉन्च किया गया था।

आयरलैंड की डेटा प्राइवेसी नियामक ने कहा है कि आमतौर पर ऐसा होता है कि कैमरा या फोन उस डिवाइस के रूप में दिखाई देते हैं, जिसके द्वारा रिकॉर्डिंग होती है। स्मार्ट ग्लास के साथ भी ऐसा है। इस स्मार्ट ग्लास में एक छोटा-सी इंडिकेटर लाइट दी गई है, जो रिकॉर्डिंग के समय एक्टिव होती है। फेसबुक या रे-बैन की ओर से डीपीसी और गारांटे यह प्रदर्शित नहीं किया गया है कि स्मार्ट ग्लास की इंडिकेटर लाइट प्रभावी साधन है या नहीं।

आयरलैंड के नियामक ने आगे कहा है कि इटालियन डेटा प्रोटेक्शन नियामक Garante ने प्राइवेसी कानूनों के अनुपालन के लिए स्मार्ट ग्लास का आकलन करने के लिए 10 सितंबर को फेसबुक से स्पष्टीकरण मांगा था। साथ ही फेसबुक को एक कैंपेन चलाने को कहा था, जिसमें लोगों को समझाया जाए कि स्मार्ट ग्लास उनकी तस्वीर नहीं खींच रहे हैं।

Facebook Smart Glasses

फेसबुक के स्मार्ट ग्लास की कीमत 299 यूएसडी यानी करीब 21,000 रुपये है। फेसबुक के स्मार्ट ग्लास की बात करें तो इसमें 5MP का कैमरा दिया गया है। इस कैमरे के जरिए फोटो क्लिक की जा सकती है। साथ ही यूजर वीडियो रिकॉर्ड कर सकते हैं। इस स्मार्ट ग्लास में वॉयस कमांड के साथ-साथ इन-बिल्ट माइक्रोफोन और स्पीकर की सुविधा भी मिलती है। इसके अलावा स्मार्ट ग्लास के जरिए यूजर्स कॉलिंग कर सकते हैं। फिलहाल, यह जानकारी नहीं मिली है कि फेसबुक के स्मार्ट ग्लास को भारत में कब तक पेश किया जाएगा।

Edited By: Ajay Verma