Move to Jagran APP

ChatGPT में यूजर्स की चैट हिस्ट्री के टाइटल हो रहे थे लीक, OpenAI ने किया अब समस्या का समाधान

चैटजीपीटी के कुछ यूजर्स को एआई मॉडल में दूसरे यूजर्स की चैट हिस्ट्री के टाइटल दिख रहे थे। अब चैटजीपीटी को पेश करने वाली कंपनी ओपनएआई ने यूजर्स के लिए इस बग को फिक्स कर लेने की जानकारी दी है। (फोटो- जागरण)

By Shivani KotnalaEdited By: Shivani KotnalaPublished: Thu, 23 Mar 2023 05:28 PM (IST)Updated: Thu, 23 Mar 2023 05:28 PM (IST)
ChatGPT users chat history titles leak bug fixed by OpenAI, Pic Courtesy- Jagran FILE

नई दिल्ली, टेक डेस्क। चैटजीपीटी टेक ही नहीं इंटरनेट की दुनिया के लिए एक कॉमन नाम बन गया है। हर यूजर ओपनएआई के आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित चैटबॉट की अनोखी खासियतों से प्रभावित है। हर दूसरा यूजर इस चैटबॉट का इस्तेमाल कर रहा है। इसी कड़ी में अपने यूजर्स की सुविधा को ध्यान में रखते हुए कंपनी चैटबॉट को पहले से बेहतर बनाने के लगातार प्रयासों में है।

यूजर्स की चैट हिस्ट्री हो रही थी लीक

दरअसल हाल ही में चैटजीपीटी को इस्तेमाल करने के दौरान कुछ यूजर्स को चैट हिस्ट्री लीक होने की परेशानी आ रही थी। चैटजीपीटी के एक बग के कारण इसे इस्तेमाल करने वाले यूजर्स की चैट हिस्ट्री लीक हो रही थी। यूजर्स चैटबॉट का इस्तेमाल करने के दौरान दूसरे यूजर्स की बातचीत का टाइटल देख पा रहे थे।

ऐसे में अब कंपनी ने इस बग को फिक्स करने की जानकारी दी है। कंपनी ने कहा है कि कुछ यूजर्स को इस तरह की परेशानी झेलनी पड़ रही थी, लेकिन अब समस्या को समाधान कर दिया गया है।

एक नहीं, कई भाषाओं का रखता है चैटजीपीटी ज्ञान

मालूम हो कि बीते साल नवंबर में ही ह्यूमन-लाइक टेक्स्ट जेनेरेट करने वाली आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तकनीक चैटजीपीटी पेश हुआ है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस स्टार्टअप कंपनी ओपनएआई का चैटबॉट चैटजीपीटी यूजर के लिए रिज्यूम बनाने से लेकर स्क्रिप्ट लिखने और किताबें लिखने तक के काम कर रहा है। कंपनी का एआई मॉडल एक नहीं, बल्कि कई भाषाओं का ज्ञान रखता है और यूजर से किसी इंसान की तरह ही बातें करता है।

इतना ही नहीं, भविष्य में इस तकनीक का इस्तेमाल एक बड़े पैमाने पर अलग- अलग फिल्ड के लिए होने की बातें भी सामने आ रही हैं। ओपनएआई के इस मॉडल का इस्तेमाल आईटी सेक्टर में सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट के लिए किया जा सकता है। इसी तरह यह बिजनेस में मार्केट रिसर्च के लिए भी किया जा सकता है।

प्रतिस्पर्धा में गूगल ने उतारा अपना बार्ड

दूसरी ओर पॉपुलर चैटबॉट चैटजीपीटी की प्रतिस्पर्धा में टेक कंपनी गूगल ने भी अपने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मॉडल बार्ड की पेशकश रखी है। बार्ड को भी चैटजीपीटी जैसी ही क्षमताओं के साथ लाया गया है। बीते दिन ही गूगल ने बार्ड के एक्सेस को लेकर भी नई जानकारियां दी हैं।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.