नई दिल्ली। अब ऑनलाइन खरीदारी के लिए मोबाइल हैंडसेट जरुरी नहीं है। बल्कि ग्राहक को सिर्फ उसका आधार नंबर याद होना अनिवार्य है। साथ ही ये नंबर आपके बैंक खाते से भी जुड़ा होना चाहिए। दरअसल, निजी बैंक आईडीएफसी ने देश का पहला आधार पे लांच किया है, जिसके जरिए कोई भी ग्राहक अपने बैंक के सेविंग अकाउंट के जरिए भुगतान कर सकता है। वहीं, इसके लिए किसी भी तरह का सर्विस टैक्स या व्यापारी को मर्चेंट डिस्काउंट रेट यानी एमडीआर नहीं चुकाना होगा। आईडीएफसी बैंक के मैनेजिंग डायरेक्टर और चीफ एक्जिक्यूटिव ऑफिसर राजीव लाल का कहना है, “अगले 36 महीनों में उनकी योजना कम से कम एक लाख व्यापारियों को नयी भुगतान व्यवस्था पर लाना है, और हां, छोटे व्यापारी से यहां मतलब आपके पड़ोस के किराने के दुकान से है”।

कैसे काम करेगी नई व्यवस्था?

इसके लिए ग्राहकों को अपना आधार नंबर याद रखना होगा। साथ ही जहां आप पेमेंट करना चाहते हैं, उस दुकानदार के पास स्मार्टफोन होना चाहिए। दुकानदार के स्मार्टफोन पर आईडीएफसी बैंक का एप डाउनलोड होना अनिवार्य है। आपको बता दें कि दुकानदार के फोन को एक छोटे से बॉयोमैट्रिक सेंसर से जोड़ा जाएगा। आपको जब भुगतान करना हो, तो दुकानदार के मोबाइल फोन पर अपना आधार नंबर और सामान की कीमत पंच करनी होगी। इसके बाद सेंसर पर अपने अंगूठे का निशान देना होगा। इसी के जरिए आपकी पहचान होगी। ऐसे आप बिना मोबाइल फोन हुए पेमेंट कर सकते हैं।

आपको बता दें कि इसके लिए ग्राहक का अकाउंट आईडीएफसी बैंक होना जरुरी नहीं है। लेकिन यह आवश्यक है कि दुकानदार का खाता आईएफसी में हो। पेमेंट होते ही ग्राहक के अकाउंट से दुकानदार के अकाउंट में पैसा ट्रांसफर हो जाएगा। इस सर्विस की एक सबसे खास बात यह है कि इसमें ग्राहक और दुकानदार को किसी तरह का कोई शुल्क नहीं देना होगा। दुकानदार को एमडीआर के तौर पर भी पैसे नहीं देने होंगे। इसके अलावा जो सेंसर दुकानदार के मोबाइल में लगाये जाएगा, उसकी कीमत करीब 2,000 रुपये है। लेकिन यह सेंसर भी बैंक मुफ्त में दे रहा है।

बैंक को कैसे होगा मुनाफा?

बैंक अगर अपने आप अपने ग्राहक बनाता है, तो उसमें कुछ खर्चा होता है। लेकिन अब ये काम बैंक के लिए दुकानदार करेंगे। वो बैंक के नए ग्राहक बनावाएंगे। अब जो बैंक का खर्च बचेगा, उसी के सहारे नई भुगतान व्यवस्था चलायी जा सकेगी।

आपको बता दे कि आईडीएफसी बैंक ने आधार पे को लेकर तीन महीने पहले एक पायलट प्रोजेक्ट 16 राज्यों के 1500 दुकानदारों के साथ शुरु किया था। यह प्रोजेक्ट कामयाब रहा। इसके बाद आधार पे को आधिकारिक तौर पर लॉन्च किया गया।

यह भी पढ़े,

OnePlus लाया Mobile Contest, मिल रहा अमिताभ बच्चन से मिलने और 1 करोड़ रुपये जीतने का मौका

माइक्रोसॉफ्ट दे रहा है आपको 20 लाख रुपये तक जीतने का मौका, करना होगा ये काम

बीएसएनएल दे रहा हिंदी में ईमेल आईडी बनाने की सेवा, मिलेगा 100 जीबी ऑनलाइन स्पेस 

Posted By: Shilpa Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप