Move to Jagran APP

भारतीय धड़ल्ले से खरीद रहे 5G फोन, आंकड़ा पहुंचा 5 करोड़ के पार

ऐपल अल्ट्रा प्रीमियम स्मार्टफोन सेगमेंट में टॉप सेलिंग स्मार्टफोन ब्रांड है। ऐपल की तरफ से हाल ही में ई-स्टोर की शुरुआत की गई जिसमें iPhone SE 2022 की खरीद पर भारी डिस्काउंट दिया जा रहा है। साथ ही अन्य डिवाइस पर ऑफर दिया जा रहा है।

By Saurabh VermaEdited By: Published: Fri, 29 Jul 2022 02:05 PM (IST)Updated: Fri, 29 Jul 2022 02:05 PM (IST)
Photo Credit - 5G in India File Photo

नई दिल्ली, एजेंसी। भारत में 5G नेटवर्क जल्द उपलब्ध हो सकता है। इस उम्मीद में भारतीय धड़ल्ले से 5G स्मार्टफोन खरीद रहे हैं। भारत में 5G स्मार्टफोन का दायरा बढ़कर 5 करोड़ के आंकड़े को पार कर गया है। लेटेस्ट रिपोर्ट के मुताबिक देश में 5G स्मार्टफोन शिपमेंट का आंकड़ा दूसरी तिमाही में बढ़कर 29 फीसद हो गया है, जो अब तक सबसे ज्यादा है।

सरकार को 1.5 लाख करोड़ का फायदा 

बता दें कि भारत में 5G स्पेक्ट्रम नीलामी जारी है। सरकार का दावा है कि साल के आखिरी तक 5G नेटवर्क भारत में लॉन्च हो सकता है। मार्केट एनालिस्ट शिल्पी जैन के मुताबिक भारत में स्पेक्ट्रम नीलामी से कॉमर्शियली 5G के एडॉप्शन में तेजी आ सकती है। सरकार को 5G स्पेक्ट्रम नीलामी से 1.5 लाख करोड़ रुपये का फायदा मिला है।

स्मार्टफोन शिपमेंट 60 करोड़ के पार 

काउंटरपॉइंट मार्केट के लेटेस्ट रिसर्च के मुताबिक अप्रैल-जून तिमाही के दौरान स्मार्टफोन शिपमेंट का आंकड़ा 600 मिलियन यानी 60 करोड़ के आंकड़े को पार कर गया। इस दौरान शिपमेंट में पिछले साल के मुकाबले 9 फीसद का इजाफा दर्ज किया गया। लेकिन पिछली तिमाही के मुताबिक शिपमेंट में 5 फीसद की गिरावट दर्ज की गई। ऐसे में स्मार्टफोन शिपमेंट गिरकर 37 मिलियन यूनिट हो गया।

रिफर्बिस्ड स्मार्टफोन की बढ़ी डिमांड 

जून तिमाही में स्मार्टफोन शिपमेंट में गिरावट की वजह माइक्रो इकोनॉमी में हलचल को माना जा रहा है। कंज्यूमर नए स्मार्टफोन को ठीक कराने के मुकाबले रिफर्बिस्ड स्मार्टफोन और फोन रिपेयर पर ज्यादा भरोसा जता रहे हैं। यह ट्रेंड एंट्री लेवल स्मार्टफोन में देखने को मिलता है। स्मार्टफोन शिपमेंट की वजह से सभी ब्रांड इन्वेंट्री इश्यू का सामना कर रहे हैं। जून के आखिरी में भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में 10 हफ्ते की इन्वेंट्री थी, जो कि नॉर्मल इन्वेंट्री साइज से डबल है। कोविड महामारी की वजह से ऐपल के शिपमेंट में पिछले साल के मुकाबले 63 फीसद का इजाफा हुआ है।  


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.