Move to Jagran APP

स्मार्टफोन की ज्यादा SAR वैल्यू शरीर को पहुंचाती है नुकसान, ऐसे करें चेक

इसको आसान भाषा में समझने की कोशिश करते हैं जिस तरह किसी भी चीज को मापने के लिए कुछ न कुछ पैमाना होता है। ठीक उसी तरह से मोबाइल से निकलने वाले रेडिएशन को मापने के लिए SAR यानी स्पेसिफिक ऑब्जर्शन रेट लेवल का इस्तेमाल किया जाता है। यह माप ही बताता है कि फोन कितनी रेडिएशन निकाल रहा है और इंसान के लिए कितनी रेडिएशन खतरनाक होती है।

By Yogesh Singh Edited By: Yogesh Singh Published: Tue, 11 Jun 2024 04:30 PM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 04:30 PM (IST)
सार वैल्यू क्या होती है और यह कितनी होनी चाहिए।

टेक्नोलॉजी डेस्क, नई दिल्ली। नया स्मार्टफोन खरीदते वक्त किसी की चाहत बड़ी बैटरी वाला फोन खरीदने की होती है तो किसी का फोकस कैमरा पर होता है। वहीं, कुछ लोग रैम और स्टोरेज को तरजीह देते हैं। लेकिन क्या कभी आपने गौर किया कि फोन में कुछ ऐसी चीजें होती हैं, जिनके कारण ज्यादा रेडिएशन निकलता है, जो आपकी सेहत के लिए सही नहीं है।

अगर अगली बार फोन खरीदें तो आपको SAR (Specific Absorption Rate) यानी स्पेसिफिक ऑब्जर्शन रेट का खास ख्याल रखना चाहिए। यहां बताने वाले हैं कि सार वैल्यू क्या होती है और यह हमारी बॉडी को कैसे प्रभावित करती है।

क्या है सार वैल्यू?

इसको आसान भाषा में समझने की कोशिश करते हैं, जिस तरह किसी भी चीज को मापने के लिए कुछ न कुछ पैमाना होता है। ठीक उसी तरह से मोबाइल से निकलने वाले रेडिएशन को मापने के लिए SAR यानी स्पेसिफिक ऑब्जर्शन रेट लेवल का इस्तेमाल किया जाता है।

यह माप ही बताता है कि फोन कितनी रेडिएशन निकाल रहा है और इंसान के लिए कितनी रेडिएशन खतरनाक होती है। यानी जिस फोन की जितनी अधिक सार वैल्यू होती है वह उतना ही बॉडी को नुकसान पहुंचाता है।

ज्यादा सार वैल्यू के नुकसान

जैसा कि बताया अत्यधिक सार वैल्यू हमारी बॉडी को कई तरह से प्रभावित करती है। इसलिए यूजर्स को एक्सपर्ट के द्वारा कम सार वैल्यू वाले स्मार्टफोन व अन्य डिवाइस खरीदने की सलाह दी जाती है। वहीं, मिनिस्ट्री ऑफ कम्युनिकेशन के अनुसार स्पेसिफिक ऑब्जर्शन रेट (सार) स्मार्टफोन या दूसरे डिवाइस के लिए निश्चित वैल्यू होनी चाहिए।

डिवाइस का रेडिएशन 1.6 वॉट प्रति किलोग्राम से नीचे ही होना चाहिए। अगर आप फोन पर बात कर रहे हैं और सार वैल्यू ऊपर बताई वैल्यू से ज्यादा है तो ये शरीर को नुकसान पहुंचाएगी। सरकार के द्वारा कहा जाता है कि नया डिवाइस लेते वक्त अन्य चीजों की जितना जांच करना जरूरी है। ठीक उतना ही जरूरी है कि आप सार वैल्यू को चेक कर लें। अब सवाल है कि सार वैल्यू चेक करने के लिए क्या करना होता है। तो नीचे इसका पूरा प्रॉसेस बताया गया है।

कैसे चेक कर सकते हैं सार वैल्यू

सार वैल्यू चेक करने के लिए आपको ज्यादा तामझाम नहीं करना पड़ता। बल्कि, एक छोटा सा प्रॉसेस है। सार वैल्यू पता करने के लिए आपको *#07# डायल करना है। ऐसा करने से सार वैल्यू की डिटेल आपके सामने होगी। यहां हेड और दूसरा बॉडी दिखेंगे। हेड का मतलब है कि जब फोन पर बात की जाती है तो सार वैल्यू कितनी है और यदि फोन पॉकेट में रखा हुआ है तो सार की संख्या कितनी है।

ये भी पढ़ें- Realme ने C Series के 50MP कैमरा फोन को नए कलर में किया लॉन्च, इस दिन से कर सकेंगे खरीदारी


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.