नई दिल्ली। ऐपल के नए 'मैकबुक' के बेहद पतले और 'ब्लूटूथ-एनेबल्ड' एक्सेसरीज जैसी फीचर्स के बारे में यह कहना गलत नहीं होगा कि ये मशीन पर्सनल कम्प्यूटिंग के फ्यूचर को बदलने की तरफ उठाया गया एक इम्प्रेसिव कदम है।

वैसे, ऐपल ने अपने पहले से मौजूद लैप्टॉप्स 13 इंच स्क्रीन वाले 'मैकबुक प्रो', 11 इंच और 13 इंच वाले 'मैकबुक एयर' में भी कई बदलाव किए हैं। आइए जानें किस 'मैक लैपटॉप' में क्या है खास...

बेहतर डिस्प्ले और रखने में आसान

नए 'मैकबुक' का 12 इंच का 'रेटिना डिसप्ले 23043x1440 का रेजोल्यूशन ऑफर करता है, जो 'मैकबुक एयर' 13 इंच के 1440x3900 रेग्युलर वाइडस्क्रीन डिसप्ले से ज्यादा है और 'मैकबुक प्रो' 13 इंच के 2560x1600 रेजोल्यूशन से कम है।

सिर्फ 0.51 इंच की मैक्सिमम थिकनेस वाला मैकबुक दुनिया के सबसे पतले लैपटॉप्स में से एक है। इसका वजन सिर्फ 2.03 पाउंड्स है और यह 0.68 इंच चौड़े और 3 पाउंड वेट वाले मैकबुक एयर और 0.71 इंच थिक और 3.5 पाउंड वेट वाले मैकबुक प्रो से काफी हल्का और पतला है।

बैटरी लाइफ

मैकबुक में मैकबुक प्रो की 74.9 वाट-आवर लीथियम-पॉलिमर बैट्री और मैकबुक एयर की 54 वाट-आवर बैट्री की तुलना में 39.9 वाट-आवर वाली बैट्री का इस्तेमाल किया गया है।

कंपनी के मुताबिक सिंगल चार्ज के बाद मैकबुक करीब 9 घंटे का यूसेज ऑफर करता वहीं बैकबुक प्रो इससे थोड़ा ही ज्यादा, 10 घंटे का बैकअप ऑफर करता है। बिना रेटिना डिसप्ले वाले मैकबुक एयर को एक बार फुल चार्ज करने के बाद करीब 12 घंटों तक यूज किया जा सकता है।

पैसा वसूल

72,900 रुपए में आने वाला मैकबुक एयर (13 इंच) इन सभी में सबसे बेहतर बैट्री लाइफ वाला लैपटॉप है। आपको 11 इंच वाला मैकबुक एयर भी मिल जाएगा जिसकी कीमत 65,900 रुपए है।

वहीं, 94,900 रु. वाले 13 इंच स्क्रीन के मैकबुक प्रो और 12 इंच के एंट्री-लेवल मैकबुक की कीमत (एक्सपेक्टेड 99,990 रुपए) में बहुत ज्यादा डिफरेंस नहीं है। अगर आप लैपटॉप पर हेवी-प्रोसेसिंग टास्क करते हैं तो आपके लिए मैकबुक प्रो और टाइपिंग या वेब ब्राउजिंग के लिए मैकबुक अच्छा ऑप्शन है।

बेहतर परफॉरमेंस

पुराने मैकबुक प्रो के 2.2 गीगाहर्ट्स ड्यूअल-कोर प्रोसेसर को 2.7 गीगाहर्ट्स ड्यूअल-कोर इंटेल प्रोसेसर से रिप्लेस किया गया है, जिसके साथ 16जीबी रैम भी दी गई है। वहीं, मैकबुक एयर के 1.4 गीगाहर्ट्स ड्यूअल-कोर प्रोसेसर को 1.6 गीगाहर्ट्स ड्यूअल-कोर इंटेल कोर आई5 प्रोसेसर से रिप्लेस किया गया है और यह 4जीबी या 8जीबी रैम के साथ मिलेगा।

दोनों ही लैपटॉप्स में 128जीबी की स्टोरेज दी जाती है। जहां मैकबुक प्रो में इसे 1टीबी तक ले जाया जा सकता है वहीं मैकबुक एयर में यह 512जीबी तक की जा सकती है। मैकबुक में 1.1 गीगाहर्ट्स ड्यूअल-कोर इंटेल कोर एम प्रोसेसर का यूज हुआ है जो बाकी दो लैपटॉप्स से स्लो नजर आ रहा है। इसके साथ 8जीबी रैम दी जाती है। इसकी डिस्क स्टोरेज एंट्री लेवल मॉडल में 128जीबी और हाई-एंड मॉडल में 512जीबी रहती है।

क्यों खरीदना चाहिए?

  • इन मशीन्स की प्रोसेसिंग स्पीड बेहतरीन होती है। ऑन करते ही कुछ सेकेंड्स में आप इनपर काम शुरू कर सकते हैं। इनमें वेबसाइट्स भी काफी तेजी से लोड होती हैं।
  • आप विंडोज ओएस में जो प्रोग्राम्स यूज करते हैं वे मैक में पहले से इंस्टॉल्ड मिलते हैं।
  • ज्यादा हार्ड ड्राइव स्पेस भी इसकी एक बहुत बड़ी खासियत है।
  • यूजर इंटरफेस के मामले में भी मैक अच्छे होते हैं और विंडोज के कम्पैरिजन में इन्हें ऑपरेट करना काफी ईजी और इंटरेस्टिंग होता है।
  • मैक में आपको एक्सक्लूजिव प्रोग्राम्स मिलते हैं, जो विंडोज में देखने को नहीं मिलता है।
  • इनकीस्क्रीन की पिक्चर क्वालिटी का कोई मुकाबला नहीं है। इनपर वीडियोज देखने और गेम्स खेलने का एक्सपीरियंस लाजवाब रहता है।
  • शायद ही कोई मैक यूजर होगा जिसको कभी 'स्पाईवेयर' या 'वायरस' जैसी प्रॉब्लम्स को फेस करना पड़ा हो।
तकनीक की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Shashi Bhushan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस