नई दिल्ली, टेक डेस्क। गूगल प्ले-स्टोर पर इस समय काफी संख्या में मोबाइल ऐप मौजूद हैं। यह ऐप यूजर्स के बहुत काम आते हैं। लेकिन इनमें कई फर्जी ऐप भी मौजूद हैं, जो यूजर्स की निजी जानकारी चोरी करने से लेकर अकाउंट तक खाली करने का काम करते हैं। ऐसे में यह जानना बहुत जरूरी है कि फर्जी मोबाइल ऐप की पहचान कैसे की जाए। तो आज हम आपको यहां कुछ महत्वपूर्ण टिप्स देंगे, जिनके जरिए आप फर्जी ऐप की पहचान कर सकेंगे।

ऐप इंस्टॉल करने से पहले आइकन और स्पेलिंग जरूर करें चेक

जब भी आप गूगल प्ले स्टोर पर किसी ऐप को सर्च करते हैं, तो आपको सर्च लिस्ट में कई सारे ऐप मिलते हैं। इनमें काफी संख्या में फर्जी ऐप होतें हैं। इनकी पहचान करने के लिए आइकन के साथ स्पेलिंग पर जरूर ध्यान दें। अगर आपको स्पेलिंग या आइकन में कुछ गड़बड़ लगता है, तो उसे डाउनलोड न करें। 

डेवेलपर पर दें ध्यान

किसी भी मोबाइल ऐप को इंस्टॉल करने से पहले उसके एडिटर च्वाइस और टॉप डवलपर्स पर जरूर ध्यान दें। इसके अलावा आप ऐप की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इससे आप फर्जी ऐप को डाउनलोड करने से बच जाएंगे।

मोबाइल ऐप की डाउनलोड संख्या

किसी भी ऐप को इंस्टॉल करने से पहले आपको यह देखना चाहिए कि उस ऐप को कितनी बार डाउनलोड किया गया है। वास्तविक ऐप्स का दुनियाभर में करोड़ों बार डाउनलोड किया गया है। ऐसे में अगर कोई फर्जी ऐप है, तो उसके इंस्टॉल काउंट भी कम होंगे।

मोबाइल ऐप रिव्यू जरूर पढ़ें

फर्जी ऐप की पहचान करने के लिए आपको उसके यूजर रिव्यू को जरूर पढ़ना चाहिए। वैसे तो कई रिव्यू फर्जी भी होते हैं। लेकिन कुछ रिव्यू आपको ऐसे भी मिल जाएंगे, जो ऐप के बारे में सही जानकारी देते हैं। अगर किसी ऐप पर नेगेटिव कमेंट हो, तो उसे डाउनलोड करने से बचें।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप