हर्षित हर्ष। साल की शुरुआती तिमाही में भारतीय बाजार में वियरलेबल डिवाइसेज की डिमांड में साल-दर-साल 300 फीसद तक की वृद्धि देखी गई है। इन वियरेबल डिवाइसेज में हेडफोन्स, ईयरफोन्स, ट्रू वायरलेस ईयरबड्स, स्मार्टवॉच, फिटनेस बैंड्स जैसे डिवाइसेज शामिल हैं। इन सब डिवाइसेज में वायरलेस ईयरबड्स की डिमांड काफी ज्यादा बढ़ी है। भारत में वायरलेस ईयरफोन्स और ईयरबड्स की डिमांड को देखते हुए कई स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों ने भारत में अपने ईयरबड्स लॉन्च किए हैं। वहीं, कई भारतीय वियरेबल डिवाइसेज और एक्सेसरीज बनाने वाली कंपनियों ने भी अपने ईयरबड्स लॉन्च किए हैं। इसी क्रम में भारतीय ब्रांड Mivi ने भी इसी महीने अपने ट्रू वायरलेस ईयरबड्स DuoPods M40 लॉन्च किया है। आज हम आपके लिए इसका रिव्यू लेकर आए हैं।

कम्फर्ट

ट्रू वायरलेस ईयरबड्स के लिए सबसे महत्वपूर्ण होता है कि वो हमारे कानों में कितने कम्फर्टेबली एडजस्ट कर जाए। Mivi DuoPods M40 में आपको बेहतर कम्फर्टेबिलिटी मिलेगी। मैं खास तौर पर इसे सुबह जॉगिंग करते समय पहनता हूं। रनिंग करते समय भी ये कानों से स्लिप नहीं होते हैं। इसे पहन कर आप रनिंग और एक्सरसाइज कर सकते हैं। कई बार ऐसा होता है कि ईयरफोन्स या ईयरबड्स हमारे कानों में सही से फिट नहीं होते हैं, जिसकी वजह से कानों में दर्द भी होता है।

इस वायरलेस ईयरबड्स के साथ मुझे ऐसी समस्या नहीं आई। कई बार मैं अपने स्मार्टफोन्स में OTT प्लेटफॉर्म्स पर वेब सीरीज के कई एपिसोड्स लेटे-लेटे देख लेता हूं। कभी भी कानों में दर्द नहीं हुआ। हां, स्वाभाविक है कि अगर आप लगातार कई घंटों तक इसे लगाए रखेंगे तो आपको दर्द हो भी सकता है। लॉकडाउन की वजह से इसे पहनकर ट्रैवलिंग तो नहीं की मैनें लेकिन ट्रैवलिंग में भी ये आपको कम्फर्ट फील कराएगा। खास तौर पर जब आप मैट्रो या पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करके अपने ऑफिस जा रहे हैं तो आप इसे इस्तेमाल कर सकते हैं।

डिजाइन

वायरलेस ईयरबड्स तभी आपके कानों में फिट बैठता है, जब उसका डिजाइन बेहतर हो। DuoPods M40 का डिजाइन भी काफी बेहतर है। इसके बड्स का डिजाइन इन-ईयर शेप में दिया गया है। यानि की आप इसे अपने कानों के अंदर फिट कर सकते हैं। यही कारण है कि आप अगर रनिंग या वर्क आउट भी करते हैं तो ये बाहर नहीं निलकते हैं। सबसे खास बात यह है कि इन-ईयर डिजाइन के साथ-साथ ये लाइट वेटेड है यानि की इसका वजन काफी हल्का है। यह स्प्लैश और स्वेट प्रूफ है, जिसकी वजह से इसके बड्स अगर वर्क आउट करते समय पसीने से गीले भी हो जाए तो खराब नहीं होते हैं। इसके चार्जिंग केस का वजन भी काफी हल्का है और ये माइक्रो यूएसबी चार्जिंग जैक के साथ आता है।

टच कंट्रोल

Mivi DuoPods M40 टच कंट्रोल फीचर के साथ आता है। इसके बड्स पर टैप करके आप म्यूजिक प्ले या पाउज कर सकते हैं। नेक्स्ट सॉन्ग पर स्कीप कर सकते हैं। यही नहीं, आपके डिवाइस के वॉयस असिस्टेंस को भी सपोर्ट करता है, जिसे आप टच कंट्रोल के जरिए एक्टिवेट कर सकते हैं। साथ ही, इसे टच करके आप कॉल्स को ऑन्सर भी कर सकते हैं या कॉल डिस्कनेक्ट कर सकते हैं। जिसकी वजह से DuoPods M40 में आपको टोटल हैंड्स फ्री एक्सपीरियंस मिलता है।

म्यूजिक प्ले या पाउज करने के लिए आपको किसी भी साइड के ईयरबड्स को आप टच करना होगा। म्यूजिक को स्टॉप करने के लिए भी आपको यही करना होगा। हालांकि, इसका टच काफी सेंसेटिव है, इसलिए ध्यान रहे कि डिवाइस से कनेक्ट होने के बाद आपका हाथ इसके बड्स से टच न हो। कॉल ऑन्सर करने के लिए भी आपको किसी भी साइ़ड के बड को टच करना होगा। कॉल डिस्कनेक्ट करने के लिए आपको किसी भी ईयरबड्स को दो सेकेंड के लिए प्रेश करके होल्ड करना होता है। नेक्स्ट ट्रैक पर जाने के लिए राइट साइड के बड्स को दो बार टैप करना होता है। वहीं, पिछले ट्रैक पर जाने के लिए लेफ्ट बड्स को दो बार टैप करना होता है।

कनेक्टिविटी

DuoPods M40 के कनेक्टिविटी फीचर की बात करें तो ये ब्लूटूथ 5.0 को सपोर्ट करता है। लेटेस्ट ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी होने की वजह से आप इसे अपने डिवाइस से आसानी से कनेक्ट कर सकते हैं। इसे अपने स्मार्टफोन या अन्य डिवाइस से पेयर करने के लिए चार्जिंग केस में दोनों बड्स को प्रेश करना होगा। इसके बाद इन बड्स में रेड लाइट और ब्लू लाइट साथ में ब्लिंक करने लगती है। इसके बाद आप अपने डिवाइस से इसे पेयर कर सकते हैं। एक बार पेयर होने के बाद जैसे ही आप चार्जिंग केस के फ्लैप को हटाएंगे ये आपके डिवाइस से ऑटोमैटिकली कनेक्ट हो जाता है। जैसे ही आप इसके चार्जिंग केस में ईयरबड्स को रखते हैं और फ्लैप को बंद करते हैं ये डिसकनेक्ट हो जाता है। यानि की ईयरबड्स को कनेक्ट करना बेहद ही आसान है।

परफॉर्मेंस

अब बात करते हैं इस ट्रू वायरलेस ईयरबड्स के सबसे महत्वपूर्ण पहलू पर। इसमें बेस बूस्ट फीचर दिया गया है। यानि की अगर आपको पावरफुल बेस के साथ गाने सुनना पसंद है तो आपको एक बेहतर साउंड क्वालिटी मिलती है। हालांकि, वॉल्यूम इनक्रीज करने पर आपको हाई वॉल्यूम पर ऑडियो में थोड़ी बहुत डिस्टॉर्शन मिलती है। लेकिन वो इतनी कम होती है कि बहुत से यूजर्स को इसका पता भी नहीं चलता है। इसके चार्जिंग केस की कैपेसिटी 500mAh की है। वहीं, इसके बड्स में 50mAh की बैटरी दी गई है। एक बार चार्ज होने के बाद बड्स से 4 से 5 घंटे का म्यूजिक प्लेबैक स्टैंडर्ड वॉल्यूम पर मिलता है। चार्जिंग केस को एक बार चार्ज करने पर आपको 18 से 20 घंटे का बैटरी बैक-अप मिलता है। यानि की आप बड्स को चार से पांच बार चार्ज कर सकते हैं।

हमारा फैसला

इन दिनों ट्रू वायरलेस ईयरबड्स ट्रेंड में है और DuoPods M40 भी यूजर्स के इस ट्रेंड को पूरा करता है। इसकी कीमत 3,999 रुपये है। इस प्राइस रेंज में आपको एक बेहतर साउंड क्वालिटी और स्टाइलिश डिजाइन वाला ईयरबड्स मिलता है। चीनी कंपनियों के वायरलेस ईयरबड्स के मुकाबले ये ट्रू वायरलेस ईयरबड्स आपको एक बेहतर एक्सपीरियंस देता है।

Posted By: Harshit Harsh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस