नई दिल्ली(टेक डेस्क)। क्या आपको पता है कि एक नकली चार्जर आपके फोन को खराब कर सकता है? जी हां, अगर आप नकली चार्जर का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो इसका सीधा असर आपके स्मार्टफोन की बैटरी पर पड़ेगा। ऐसे में आज हम आपको बताएंगे के कैसे आप iPhone, Samsung, Xiaomi, Huawei और Oneplus के असली और नकली चार्जर में अंतर का पता लगा सकते हैं।

iPhone

अगर आप आईफोन का चार्जर खरीदने जा रहे हैं, तो इस चार्जर पर बने ऐप्पल के LOGO को ध्यान से देखे। नकली चार्जर में आपको ऐप्पल का लोगो बड़ा, छोटा, टेढ़ा या फिर गाढ़े रंग का दिखाई देगा। इसके अलावा चार्जर खरीदते समय जरूर ध्यान दें कि उस पर 'Designed by Apple in California'लिखा है या नहीं। असली चार्जर पर आपको ये लिखा दिखाई देगा।

Samsung

अगर आप सैमसंग का चार्जर खरीदने जा रहे हैं, तो उस चार्जर की पूरी स्पेसिफिकेशन को पढ़ें। अगर आपको फोन के चार्जर पर A+ और मेड इन चाइना दोनों लिखा दिखाई दे, तो उस चार्जर को बिल्कुल न खरीदें। यह चार्जर असल में एक नकली चार्जर है।

Xiaomi

वहीं, श्याओमी के चार्जर में असली और नकली का पता लगाने के लिए इसके केबल की लंबाई को नाप लें। अगर चार्जर के तार की लंबाई 120 सेंटीमीटर से ज्यादा है, तो इसका मतलब यह नकली है। इसके अलावा अगर चार्जर का एडॉप्टर ज्यादा बड़ा दिख रहा है, तो इसका मतलब भी यही है कि यह नकली है।

Huawei

हुवावे के चार्जर पर आपको प्रिंटेड बारकोड मिलेगा। बारकोड की स्पेसिफिकेशन को एडॉप्टर की स्पेसिफिकेशन से मिलाएं। अगर दोनों स्पेसिफिकेशन आपको अलग-अलग दिखती हैं, तो इसका मतलब यह है कि आपका चार्जर नकली है।

OnePlus

अगर आप वनप्लस का डैश चार्जर खरीद रहे है, तो आपको फ्लैश चार्जिंग का Logo दिखेगा। अगर ऐसा नहीं होता है तो इसका मतलब कि आपका चार्जर नकली है।

यह भी पढ़ें:

Fridge, AC, Washing Machine और Microwave Oven को खराब होने से बचाएं, अपनाएं ये तरीके

दुनिया के किसी भी कोने से अब अपने स्मार्टफोन से करें Desktop को कंट्रोल

कहीं हैक तो नहीं हो गया है आपका Wi-Fi नेटवर्क, इन 4 तरह से लगाएं पता 

Posted By: Shridhar Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप