Move to Jagran APP

उबर ने वेब वर्जन समेत भारत में लॉन्च किए तीन नए फीचर्स

उबर और ओला अपने यूजर्स की सुविधा के लिए नए-नए फीचर्स पेश कर रही है

By Joyeeta BhattacharyaEdited By: Tue, 21 Nov 2017 01:55 PM (IST)
उबर ने वेब वर्जन समेत भारत में लॉन्च किए तीन नए फीचर्स

नई दिल्ली (टेक डेस्क)। कैब सर्विस प्रोवाइडर उबर ने अपने यूजर्स की सुविधा को ध्यान में रखते हुए कुछ फीचर्स को लॉन्च किए है। आपको बता दें कि उबर का इस्तेमाल करने वाले यूजर्स अब इसके वेब वर्जन को भी इस्तेमाल कर सकेंगे। उबर ने हाल ही में अपने वेब वर्जन को लॉन्च कर दिया है। इसके साथ ही कंपनी ने अपने एप में कुछ और नए फीचर्स को शामिल किया है।

वेब वर्जन हुआ पेश:

उबर के वेब वर्जन का इस्तेमाल करने वाले यूजर्स m.uber.com पर जाकर अपने लिए कैब बुक कर सकते हैं। कंपनी ने यह सर्विस उन लोगों को ध्यान में रखते हुए जारी की है जो स्मार्टफोन इस्तेमाल नहीं करते हैं या फोन में उबर कैब एप नहीं है। उबर का नया वेब वर्जन एप की तरह ही काम करेगा, जिसमें यूजर्स अपनी पिकअप और ड्रॉप लोकेशन को भर सकते हैं। उबर ने भारत में इसका लाइट वर्जन उपलब्ध कराया है।

ऑफलाइन सर्च:

इसके साथ ही उबर ने एप में तीन और नए फीचर्स को जोड़ा है। इनमें ऑफलाइन सर्च, रिक्वेस्ट फॉर गेस्ट और कॉल टू राइड फीचर्स शामिल हैं। ‘ऑफलाइन सर्च’ उन यूजर्स के लिए उपयोगी साबित होगी जो एप का इस्तेमाल लिमिटेड नेटवर्क एरिया में करते हैं। इस फीचर की मदद से यूजर बिना इंटरनेट कनेक्शन के भी अपने लोकेशन तक पहुंच सकेंगे।

रिक्वेस्ट फॉर गेस्ट:

वहीं, इसके दूसरे फीचर ‘रिक्वेस्ट फॉर गेस्ट’ की बात करें तो, इसमें यूजर अपने किसी दोस्त, रिश्तेदार या दूसरे किसी के लिए भी उबर बुक कर सकता है। इस फीचर का इस्तेमाल करने के लिए यूजर को 'Where to?' पर टैप करना होगा और पिकअप लोकेशन सेलेक्ट करना होगा। इसके बाद कंपनी ट्रिप की जानकारी यूजर को SMS के जरिए देगी, जिसमें ETA, कार टाइप और ड्राइवर की जानकारी मौजूद होगी। हालांकि, ये सर्विसेस सिर्फ पुणे में है और जल्द ही इसे दूसरे शहरों के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।

कॉल टू राइड:

अब बात करते हैं उबर के तीसरे फीचर ‘कॉल टू राइड’ की। यह फीचर उन यूजर्स के लिए पेश किया गया है, जो फीचर फोन का इस्तेमाल करते हैं। इसके साथ ही, यह फीचर उनके लिए भी मददगार साबित होगी जो ऐसे एरिया में रहते हैं जहां नेटवर्क प्रॉब्लम है। इस फीचर के इस्तेमाल करने के लिए ग्राहक को एक नेशनवाइड फोन नंबर डायल कर एक न्यूमेरिक कोड डालना होगा। इसके बाद यूजर की लोकेशन को पहचान कर वहां उबर टैक्सी भेज देगी।

ओला ने माइक्रोसॉफ्ट के साथ की साझेदारी:

वहीं, ओला ने भी अत्याधुनिक कनेक्टेड कार प्लेटफार्म बनाने के लिए कैब एग्रीगेटर ओला ने टेक्नोलॉजी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के साथ साझेदारी की घोषणा की है। इसके लिए ओला कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के क्लाउड, आर्टिफिशल इंटेलिजंस (AI) और प्रॉडक्टिविटी टूल का इस्तेमाल करेगी। इससे ग्राहकों के अनुभव को बेहतर करने और कारों के रखरखाव में मदद मिलेगी।

कंपनी ने बताई साझेदारी की रूपरेखा:

ओला के सह संस्थापक और सीईओ भविश अग्रवाल इस करार की रूपरेखा की भी बात की। उन्होंने बताया कि इसके तहत AI और IoT जैसी नई तकनीकों का इस्तेमाल किया जाएगा। साथ ही माइक्रोसॉफ्ट के azure क्लाउड का इस्तेमाल ओला प्ले में किया जाएगा।

क्या है कार कनेक्टेड प्लेटफॉर्म:

यह एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जिसके जरिए नए इनोवेशन और इनसाइट्स को अपने बिजनेस में जोड़कर यात्रियों के अनुभव को बेहतर बनाया जा सकता है। माइक्रोसॉफ्ट इस साझेदारी के तहत ग्राहकों को सुरक्षित, प्रोडक्टिव और बेहतर अनुभव प्रदान कराएगा।