नई दिल्ली, टेक डेस्क। वॉट्सऐप अब यूजर्स से प्लेटफॉर्म पर यूपीआई-आधारित पेमेंट के लिए आगे बढ़ने के लिए उनके 'कानूनी' नाम पूछेगा। ये 'कानूनी' नाम यूजर्स के बैंक अकाउंट से जुड़े नाम हैं। बता दें कि ये नाम प्रोफ़ाइल नामों से अलग हो सकते हैं और रिसीवर को प्रदर्शित किए जाएंगे। पेमेंट धोखाधड़ी पर नकेल कसने के लिए नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) गाइडलाइन निर्धारित किए जाने के बाद यह बदलाव आया है।

वॉट्सऐप UPI पेमेंट के लिए अब 'कानूनी नाम' की जरूरत

वॉट्सऐप ने आधिकारिक तौर पर अपनी वेबसाइट पर इसकी पुष्टि की है। बयान के अनुसार, "यह आवश्यकता NPCI द्वारा निर्धारित की गई है और UPI पेमेंट सिस्टम में धोखाधड़ी को कम करने के लिए डिज़ाइन की गई है। वॉट्सऐप UPI के जरिए आपके बैंक खाते की पहचान करने के लिए आपके खाते से जुड़े फोन नंबर का उपयोग करता है। आपके बैंक खाते से जुड़ा नाम वह नाम है जिसे साझा किया जाएगा।यह बदलाव iOS और एंड्रॉयड दोनों यूजर्स के लिए लागू है।

अब तक, वॉट्सऐप यूजर्स सेंडर का नाम स्वयं जोड़ सकते थे, जिसमें इमोजी के साथ अधिकतम 25 कैरेक्टर्स शामिल हो सकते थे। लेकिन अब, सभी यूजर्स को पेमेंट करने के लिए उनके UPI लिंक्ड बैंक खाते पर कानूनी नाम देना अनिवार्य है। इस अपडेट के बारे में यूजर्स को सूचित करने के लिए, वॉट्सऐप ने ऐप में सूचनाएं भेजना शुरू कर दिया है। इसमें एक FAQ पेज का लिंक होता है जो यूजर्स को कानूनी नाम की आवश्यकता के बारे में शिक्षित करता है।

अनजान लोगों के लिए, वॉट्सऐप को प्लेटफॉर्म पर पेमेंट करने या पैसे प्राप्त करने के लिए आपके पास डिजिटल वॉलेट की आवश्यकता नहीं है। मैसेजिंग ऐप यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) का उपयोग करता है। यह वही सिस्टम जिसका इस्तेमाल गूगल पे, फोन पे, भीम और विभिन्न बैंक ऐप करते हैं। वॉट्सऐप यूजर्स भीम, गूगल पे या फोन पे जैसे अन्य ऐप के जरिए भी पेमेंट कर सकते हैं।

Edited By: Ankita Pandey