नई दिल्ली, टेक डेस्क। देश में आने वाले दिनों में 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होंगे। इसमें उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर शामिल है। लेकिन इन 5 राज्यों में होने वाले चुनाव पहले से अगल होंगे। मतलब इस बार का चुनाव वर्चुअली होगा। ऐसे में चुनाव ऐप बेस्ड होगा। ऐसे में चुनाव का अहमियत बढ़ जाती है। इसलिए यूपी, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर के वोटर्स को फोन में इन तीन ऐप्स को जरूर डाउनलोड करना चाहिए, जो चुनाव के दौरान काफी मदद करेंगे। आइए जानते हैं इस बारे में विस्तार से-

cVigil ऐप

चुनाव आयोग की तरफ से cVigil ऐप को पेश किया गया है। जिससे चुनाव में धांधली को रोकने में मदद मिलेगी। मतलब चुनाव आचार संहिता और चुनाव धांधली की शिकायत की जा सकेगी। cVigil ऐप से फोटो और वीडियो के तौर पर स्टोर किया जा सकता है। यह एंड्राइड और iOS बेस्ड ऐप है। इसे एंड्राइड यूजर प्ले स्टोर और iPhone यूजर Apple प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं।

कैसे करें शिकायत

  • ऐप इन्स्टॉल करने के बाद आपको नाम, पता, राज्य, जिला, विधानसभा और पिनकोड की जानकारी देते हुए रजिस्ट्रेशन करना होगा.
  • शिकायत करने के लिए एक OTP की मदद से इसका वेरिफिकेशन किया जाएगा. वेरिफाई होने के बाद फोटो या कैमरे वाले विकल्प को सेलेक्ट करना होगा.
  • आप कोई फोटो या फिर 2 मिनट तक की वीडियो ऐप पर अपलोड कर सकते हैं. फोटो या वीडियो से जुड़ी डिटेल्स को संबंधित कॉलम में भरना होगा.
  • चुनाव आयोग को फोटो/वीडियो की लोकेशन भी पता चल जाती है. इसके बाद आपको एक यूनीक आईडी मिलेगी, जिसके जरिये आप अपनी शिकायत को ट्रैक कर सकते हैं.

आयोग का दावा है कि शिकायत सही पाए जाने पर 100 मिनट के अंदर ही उसपर संज्ञान लिया जाएगा और कार्रवाई होगी. बता दें कि इस ऐप पर रिकॉर्ड वीडियो या फोटो आपकी फोन गैलरी में सेव नहीं होते हैं. शिकायतकर्ता की पहचान गोपनीय रखा जाएगा।

सुविधा ऐप (Suvidha App)

चुनाव आयोग ने सुविधा ऐप बनाया है। इस ऐप के ज़रिए पॉलिटिकल पार्टी अपने कैंपेन एरिया चुन सकती हैं और इसके लिए जगह की अनुमति ले सकती हैं. इसके लिए उन्हें किसी सरकारी कार्यालय में जाने की ज़रूरत नहीं होगी. वे इसी एप के ज़रिए अनुमति ली जा सकती है।

PWD App

दिव्यांग जन भी अपने मताधिकार का सही इस्तमाल कर सकें, इसके लिए चुनाव आयोग ने PWD ऐप भी उपलब्ध कराया है. इस ऐप के ज़रिए दिव्यांग लोग मतदान के लिए व्हील चेयर, फ्री ट्रांसपोर्ट की सुविधा और अन्य सुविधाओं की मांग कर सकते हैं, जिससे वे लोग भी आसानी से वोट डाल सकें। 

Edited By: Saurabh Verma