नई दिल्ली, Vastu Tips: हर व्यक्ति चाहता है कि उसके घर में कभी धन की कमी न हो, हमेशा सुख-समृद्धि और शांति बनी रहे। लेकिन कई बार मेहनत करने के बावजूद घर में एक पैसा नहीं रुकता है। धन यूँ आता है और किसी न किसी तरह चला जाता है। धन संबंधी परेशानियों का किसी न किसी तरह से सामना करना पड़ता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में मौजूद वास्तु दोष भी आर्थिक तंगी का कारण हो सकता है। जानिए कुछ ऐसी चीजों के बारे में जिन्हें घर में रखने से नकारात्मक ऊर्जा खत्म हो जाती है और सुख-समृद्धि बनी रहती है। जानिए वास्तु के अनुसार किन चार चीजों को घर में रखना माना जाता है शुभ।

मां लक्ष्मी और कुबेर की तस्वीर

वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में मां लक्ष्मी के साथ-साथ कुबेर जी की तस्वीर जरूर रखना चाहिए। मां लक्ष्मी को धन का सुख देती है और जबकि कुबेर को आय देने वाला देवता माना जाता है। इसलिए दोनों देवी-देवता को एक दूसरे का पूरक माना जाता है। धन-धान्य की बढ़ोतरी के लिए घर में उत्तर दिशा की ओर कुबेर और माता लक्ष्मी की तस्वीर रख सकते हैं।

शंख

भगवान विष्णु को शंख काफी प्रिय होता है। माना जाता है कि घर में दो शंख रखना चाहिए। जहां एक शंख से भगवान विष्णु को अभिषेक करना चाहिए। वहीं दूसरे दक्षिणावर्ती शंख को बजाना चाहिए। माना जाता है कि इस शंख में मां लक्ष्मी का वास होता है। रोजाना शंखनाद करने से घर का वातावरण ठीक होता है। इसके साथ ही कभी भी धन की कमी नहीं होती है।

नारियल

एकाक्षी नारियल को मां लक्ष्मी का ही स्वरूप माना जाता है। माना जाता है कि एकाक्षी नारियल को पूजा घर में स्थापित करके नियमित रूप से पूजा करें। इससे कभी भी आपके घर में धन की कमी नहीं होगी और सुख-समृद्धि की प्राप्ति होगी।

बांसुरी

वास्तु शास्त्र के मुताबिक, घर के वास्तु दोष को दूर करने के लिए बांसुरी जरूर रखें। माना जाता है कि घर में सही दिशा में बांसुरी रखने से सकारात्मक ऊर्जा अधिक पैदा होती है और कई बार के दोषों से छुटकारा मिलता है। बिजनेस, नौकरी में बढ़ोतरी के लिए बेडरूम के दरवाजे के दोनों ओर बांसुरी टांग लें।

Pic Credit- Freepik

डिसक्लेमर

'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।'

Edited By: Shivani Singh