Thursday Fast Rules: हिंद धर्म में हर दिन का महत्व अलग होता है और हर दिन किसी न किसी भगवान को समर्पित होता है। आज गुरुवार है और यह दिन विष्णु जी को समर्पित है। आज के दिन कई लोग व्रत करते हैं। इस दिन व्रत का महत्व अत्याधिक होता है। मान्यता है कि अगर कोई व्यक्ति इस दिन नियमानुसार व्रत करता है तो उसकी हर मनोकामना पूरी हो जाती है। ऐसे में इस व्रत को करते समय काफी सावधानी रखनी होती है। अगर ऐसा न किया जाए तो विष्णु जी नाराज हो सकते हैं। तो अगर आप गुरुवार का व्रत पहली बार रखने जा रहे हैं तो यहां हम आपको गुरुवार के व्रत नियमों की जानकारी दे रहे हैं।

कब से शुरू करें व्रत: अगर आप गुरुवार का व्रत पहली बार रखने जा रहे हैं तो आपको यह ध्यान रखना होगा कि इसकी शुरुआत पौष माह से न हो। वहीं, अगर गुरुवार का दिन पुष्य नक्षत्र वाला हो तो व्रत की शुरुआत करने उत्तम रहेगा। इसके अलावा किसी भी महीने के शुक्ल पक्ष के पहले गुरुवार से व्रत शुरू किया जा सकता है। यह व्रत 16 गुरुवार तक रखना होता है।

न खाएं केला: मान्यता है कि विष्णु जी केले के पेड़ में निवास करते हैं। ऐसे में गुरुवार के दिन केले के पेड़ की पूजा की जाती है। ऐसे में इस दिन केला नहीं खाना चाहिए। इस दिन केला खाना वर्जित माना जाता है।

पीली वस्तुएं करें दान: अगर आप पहली बार गुरुवार का व्रत कर रहे हैं तो आप गुड़, पीला कपड़ा, चने की दाल, केला आदि पीली चीजें भगवान को अर्पित कर गरीबों को दान करें।

न करें चावल का सेवन: इस दिन अगर पीला भोजन किया जाए तो उत्तम और लाभकारी माना जाता है। लेकिन इस दिन काली दाल की खिचड़ी नहीं खानी चाहिए। साथ ही चावल का सेवन भी नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से धन की हानि होती है।  

डिसक्लेमर

'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी। '

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021