तिरुपति बालाजी, रामेश्वरम सहित दक्षिण भारत के अन्य प्रसिद्ध मंदिरों के दर्शन करने की योजना बना रहे हैं तो रेलवे की दक्षिण तीर्थ यात्रा ट्रेन आपकी इस यात्रा को यादगार बना सकता है। इस ट्रेन में बुकिंग कराने के बाद न तो आपको अलग-अलग ट्रेनों में कंफर्म टिकट बुक कराने की चिंता होगी और न ही ठहरने की व्यवस्था करनी होगी। रेलवे स्टेशन से मंदिर तक पहुंचने के लिए भी चिंता करने की जरूरत नहीं होगी। यहां तक कि दर्शन के लिए लंबी कतार में भी खड़ा नहीं होना होगा। आपके लिए यह सभी काम अब रेलवे करेगा।

रेल बजट में सुरेश प्रभु ने पर्यटन ट्रेनें चलाने की घोषणा की थी जिस पर अमल शुरू हो गया है। इसी महीने उन्होंने टाइगर एक्सप्रेस को रवाना किया था और अब तीर्थ यात्रियों के लिए भी सेमी लग्जरी ट्रेन चलाने की तैयारी है। इस तरह की पहली ट्रेन दक्षिण भारत के लिए चलेगी।

भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आइआरसीटीसी) के सहयोग से चलने वाली दक्षिण तीर्थ यात्रा ट्रेन भी टाइगर एक्सप्रेस की तरह सेमी लग्जरी सुविधाओं से सुसज्जित होगी। तीर्थ यात्रियों के लिए आइआरसीटीसी पहले भी भारत दर्शन नाम से ट्रेनें चलाती रही है लेकिन इस तरह की लग्जरी ट्रेन पहली बार चलेगी।

परोसा जाएगा शाकाहारी भोजन

रेलवे अधिकारियों का कहना है कि ट्रेन में फ‌र्स्ट एसी, सेकंड एसी और थर्ड एसी के कोच होंगे। इसके साथ ही इसमें डाइनिंग कार भी लगेगी जिसमें बैठकर यात्री भोजन कर सकेंगे। धार्मिक यात्रा की मर्यादा को ध्यान में रखकर यात्रियों को सिर्फ शाकाहारी भोजन परोसा जाएगा।

यात्रियों की सुरक्षा का भी पूरा ध्यान रखा जाएगा। तिरुपति बालाजी के दर्शन के लिए लंबी प्रतीक्षा सूची रहती है, लेकिन इस ट्रेन से सफर करने वाले यात्रियों को दर्शन के लिए कंफर्म टिकट की व्यवस्था की जाएगी ताकि उन्हें इंतजार नहीं करना पड़ा।

लगभग 35 हजार रुपये होगा न्यूनतम किराया

सात दिन व छह रात की यात्रा के लिए तीर्थयात्रियों को न्यूनतम 34864 रुपये का किराया देना होगा। श्रेणी के हिसाब से अधिकतम किराया 54111 रुपये होगा। इस किराया में भोजन, रात्रि विश्राम, रोड परिवहन आदि भी शामिल होगा।

16 जुलाई को ट्रेन को रवाना करने की योजना

अधिकारियों को कहना है कि 16 जुलाई को इस ट्रेन को रवाना करने की योजना है। उल्लेखनीय है कि पर्यावरण दिवस के अवसर पर रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से टाइगर एक्सप्रेस को रवाना किया था। टाइगर एक्सप्रेस से पर्यटक मध्य प्रदेश में स्थित कान्हा नेशनल पार्क, बांधवगढ़ नेशनल पार्क सहित अन्य पर्यटन स्थलों का सैर कर सकते हैं। टाइगर एक्सप्रेस का उद्घाटन तो हो गया है लेकिन इसका नियमित परिचालन अक्टूबर से शुरू होगा।

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस