नई दिल्ली, Pitru Paksha 2022: हिंदू पंचांग के अनुसार, भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि से पितृपक्ष की शुरुआत होती है जो आश्विन मास की अमावस्या के साथ समाप्त होते हैं। इस 15 दिनों में पितरों का तर्पण करना शुभ माना जाता है। इस साल पितृ पक्ष 10 सितंबर के शुरू हो रहे हैं। जानिए पितृ पक्ष की तारीख, महत्व के साथ महत्वपूर्ण तिथियां।

पितृ पक्ष 2022 का महत्व

शास्त्रों के अनुसार, पूर्णिमा से लेकर अमावस्या तक 15 दिनों तक पितृ पक्ष होते हैं। इस अवधि में शुभ काम करने की मनाही होती है। माना जाता है कि पितरों का आशीर्वाद पाने के लिए पितृ पक्ष में तर्पण, पिंडदान जरूर करना चागिए। इसके साथ ही व्यक्ति को पितृ दोष से भी छुटकारा मिल जाता है। मान्यता है कि पितृ पक्ष में श्राद्ध न करने से पितरों की आत्मा शांत नहीं होती है जिसका प्रभाव घर में मौजूद हर एक व्यक्ति के जीवन पर पड़ता है।

पितृ पक्ष 2022 की प्रमुख तिथियां

10 सितंबर 2022- पूर्णिमा श्राद्ध भाद्रपद, शुक्ल पूर्णिमा

11 सितंबर 2022-आश्विन, कृष्ण प्रतिपदा तिथि को प्रतिपदा श्राद्ध

12 सितंबर 2022- आश्विन मास की कृष्ण द्वितीया

13 सितंबर 2022 - आश्विन मास की कृष्ण तृतीया

14 सितंबर 2022 - आश्विन माह की कृष्ण चतुर्थी

15 सितंबर 2022 - आश्विन मास की कृष्ण पंचमी

16 सितंबर 2022 - आश्विन, कृष्ण षष्ठी

17 सितंबर 2022 - आश्विन, कृष्ण सप्तमी

18 सितंबर 2022 - आश्विन, कृष्ण अष्टमी

19 सितंबर 2022 - आश्विन, कृष्ण नवमी

20 सितंबर 2022 - आश्विन, कृष्ण दशमी

21 सितंबर 2022 - आश्विन, कृष्ण एकादशी

22 सितंबर 2022 - आश्विन, कृष्ण द्वादशी

23 सितंबर 2022 - आश्विन, कृष्ण त्रयोदशी

24 सितंबर 2022 - आश्विन, कृष्ण चतुर्दशी

25 सितंबर 2022 - आश्विन मास के कृष्ण अमावस्या तिथि सर्वपितृ अमावस्या

धर्म संबंधी अन्य खबरों के लिए क्लिक करें

Pic Credit- Instagram/hindupoojarituals.com_official/

डिसक्लेमर

इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।

Edited By: Shivani Singh