Panchang 30 October 2020: हिन्दी पंचांग के अनुसार, आज शुद्ध आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि है। आज 30 अक्टूबर दिन शुक्रवार है। शाम को 05:46 बजे से पूर्णिमा तिथि लग जाएगी। ऐसे में शरद पूर्णिमा या कोजागरी पूर्णिमा आज ही है। शरद पूर्णिमा की चांदनी रात में खीर रखा जाता है, जो चंद्रमा की अमृतमयी किरणों से औषधियुक्त हो जाता है। आज पंचक दोपहर के बाद खत्म हो रहा है, वहीं राहुकाल सुबह से दोपहर तक डेढ़ घंटे का है। आज सर्वार्थ सिद्धि योग पूरे दिन रहेगा, वहीं अमृत सिद्धि योग तथा रवि योग सुबह से दोपहर तक रहेगा। आज के पंचांग में राहुकाल, शुभ मुहूर्त, दिशाशूल के अलावा सूर्योदय, चंद्रोदय, सूर्यास्त, चंद्रास्त आदि के बारे में भी जानकारी दी जा रही है।

आज का पंचांग

दिन: शुक्रवार, शुद्ध आश्विन मास, शुक्ल पक्ष, चतुर्दशी तिथि।

आज का दिशाशूल: पश्चिम।

आज का राहुकाल: प्रात: 10:30 बजे से 12:00 बजे तक।

विशेष: पंचक (दोपहर 02:55 बजे तक)।

आज का व्रत एवं त्योहार: शरद पूर्णिमा।

आज की भद्रा: शाम 05:46 बजे से 31 अक्टूबर को प्रात: 07:30 बजे तक।

विक्रम संवत 2077 शके 1942 दक्षिणायन, दक्षिणगोल, शरद ऋतु शुद्ध आश्विन मास शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी 17 घंटे 46 मिनट तक, तत्पश्चात् पूर्णिमा रेवती नक्षत्र 02 घंटे 55 मिनट तक, तत्पश्चात् अश्वनी नक्षत्र वज्र योग 27 घंटे 30 मिनट तक, तत्पश्चात् सिद्धि योग मीन में चंद्रमा 02 घंटे 55 मिनट तक तत्पश्चात् मेष में।

आज का शुभ समय

अभिजित मुहूर्त: दिन में 11 बजकर 42 मिनट से दोपहर 12 बजकर 27 मिनट तक।

अमृत काल: दोपहर 12 बजकर 16 मिनट से दोपहर 02 बजकर 04 मिनट तक।

रवि योग: सुबह 06 बजकर 32 मिनट से दोपहर 02 बजकर 57 मिनट तक।

विजय मुहूर्त: दोपहर 01 बजकर 55 मिनट से दोपहर 02 बजकर 40 मिनट तक।

सर्वार्थ सिद्धि योग: पूरे दिन रहेगा।

अमृत सिद्धि योग: सुबह 06 बजकर 32 मिनट से दोपहर 02 बजकर 57 मिनट तक।

सूर्योदय और सूर्यास्त 

आज चतुर्दशी दिन सूर्योदय प्रात:काल 06 बजकर 32 मिनट पर हुआ है, वहीं सूर्यास्त शाम को 05 बजकर 37 मिनट पर होना है।

चंद्रोदय और चंद्रास्त 

आज शरद पूर्णिमा के दिन चंद्रोदय शाम को 05 बजकर 11 मिनट पर होगा। वहीं, चंद्र का अस्त अगले दिन 31 अक्टूबर को सुबह 06 बजकर 04 मिनट पर होगा।

आज आश्विन पूर्णिमा या शरद पूर्णिमा के दिन माता लक्ष्मी की पूजा की जाती है। इसे कोजागरी पूजा के नाम से जाना जाता है। आप कोई नया कार्य करना चाहते हैं तो शुभ मुहूर्त का ध्यान रखें।

Edited By: Kartikey Tiwari