Aaj Ka Panchang: हिन्दू कैलेडर के अनुसार, आज आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि है। आज 13 अक्टूबर 2021 और दिन बुधवार है। आज नवरात्रि की महा अष्टमी है, जिसे महा दुर्गा अष्टमी भी कहा जाता है। आज के दिन मां महागौरी की विधि विधान से पूजा होती है। कई स्थानों पर आज के दिन ही कन्या पूजन भी होता है और नवरा​त्रि का हवन भी किया जाता है। आज पूरे दिन सुकर्मा योग है। यह मांगलिक कार्यों के लिए अच्छा माना जाता है। दुर्गा अष्टमी का व्रत सुकर्मा योग में है। आज बुधवार के दिन आपको गणेश जी की भी पूजा करनी चाहिए। आज के पंचांग में शुभ मुहूर्त, राहुकाल, दिशाशूल के अलावा सूर्योदय, सूर्यास्त, चंद्रोदय, चंद्रास्त आदि के बारे में भी जानकारी दी जा रही है।

आज का पंचांग

दिन: बुधवार, आश्विन मास, शुक्ल पक्ष, अष्टमी तिथि।

आज का दिशाशूल: उत्तर।

आज का राहुकाल: दोपहर 12:00 बजे से 01:30 बजे तक।

आज की भद्रा: प्रात: 08:56 बजे तक।

आज का पर्व एवं त्योहार: दुर्गाष्टमी।

विक्रम संवत 2078 शके 1943 दक्षिणायन, उत्तरगोल, वर्षा ऋतु आश्विन मास शुक्ल पक्ष की अष्टमी 20 घंटे 09 मिनट तक, तत्पश्चात् नवमी पूर्वाआषाढ़ा नक्षत्र 10 घंटे 19 मिनट तक, तत्पश्चात् उत्तराआषाढ़ा नक्षत्र अतिगण्ड योग 06 घंटे 09 मिनट तक, तत्पश्चात् सुकर्मा योग धनु में चंद्रमा 16 घंटे 06 मिनट तक तत्पश्चात् मकर में।

सूर्योदय और सूर्यास्त

आज के दिन सूर्योदय प्रात:काल 06 बजकर 21 मिनट पर हुआ है, वहीं सूर्यास्त शाम को 05 बजकर 54 मिनट पर होगा।

आज का शुभ समय

सुकर्मा योग: 14 अक्टूबर को प्रात: 03 बजकर 54 मिनट तक।

अभिजित मुहूर्त: आज ऐसा कोई मुहूर्त प्राप्त नहीं है।

विजय मुहूर्त: दोपहर 02 बजकर 03 मिनट से दोपहर 02 बजकर 49 मिनट तक।

अमृत काल: 14 अक्टूबर को प्रात: 03 बजकर 23 मिनट से प्रात: 04 बजकर 56 मिनट तक।

चंद्रोदय और चंद्रास्त

आज का चंद्रोदय दोपहर 01 बजकर 34 मिनट पर होना है। चंद्र के अस्त का समय रात 12 बजे है।

आज आश्विन शुक्ल अष्टमी है। आज महागौरी के मंत्रों का जाप और आरती करना उत्तम होता है। बुधवार को गणेश चालीसा, गणेश स्तोत्र आदि का पाठ करना उत्तम रहता है। आज आप कोई नया कार्य करना चाहते हैं तो शुभ मुहूर्त का ध्यान रखें।

Edited By: Kartikey Tiwari