सामान्य फल- वातावरण में सुधार होगा असंतोष दूर होगा। जीवनसाथी के व्यवहार से प्रसन्न होंगे। अधीनस्थों से मदद मिलेगी। महत्वपूर्ण परिचय तथा आर्थिक आश्वासन का लाभ उठा सकते है। अधूरे काम पूरे होंगे। पारिवारिक जीवन में सुख सहयोग विशेष रहेगा। विरोधी के व्यवहार में सुधार आयेगा। शुभ मांगलिक कार्यों में सम्मिलित होने से प्रसन्नतायें भी बढ़ेगी। काम में स्थिरता रहेगी। निकट के मित्रों से मेलजोल भी होगा।

आपकी कार्यशैली- इस समयावधि में कारोबारी क्षेत्र में किये गये प्रयास सार्थक होंगे, पारिवारिक भौतिक सुखों की उपलब्धि, संतानों की उन्नति, हर्षपूर्ण माहौल रहेगा। आपके लिए ज्यादा महत्व इस बात का होता है कि आपने अपनी तरफ से पूरी कोशिश की है। अधिकतम समय व्यस्ततापूर्ण रहेगा। संकटकाल में भी आप साहसी और जुझारू रहेंगे।

प्रेम और रोमांस- कुंवारों के लिए नया प्रेम सम्बन्ध अवश्यम्भावी है। आपमें रोमांस की प्रवृत्ति काफी प्रबल हैं आप बहुत ही स्नेही स्वभाव के हैं। आप अपने प्रेम का इजहार सही तरीके से नहीं कर पाते इसलिए प्रायः लोग यह समझते हैं कि आपका स्वभाव प्रेमिल नहीं है। आपके प्रेम में कोमल स्पर्श, बहुत-सी प्रशंसा, तोहफों की बारिश और स्टाइशिल डेटिंग शामिल है।

बिजनेस और आर्थिक स्थिति- जब तक कि आप अपने लक्ष्य को हासिल न कर लें या उनके लिए हर संभव प्रयास न कर लें, और हार मानने से इंकार कर देंगे। कारोबार के क्षेत्र में आपकी बुद्धि बेहतर काम करती है और आपकी आर्थिक स्थिति भी दिन प्रतिदिन बेहतर होती जाएगी। किताबों में बताए गए पारम्परिक तरीके आपको पसंद नहीं होते। आप इस बात का भी ध्यान रखते हैं कि आपकी हर चीज औरों से हट कर हो। आप बहुत सम्वेदनशील हैं और इस वजह से आप अपने किए गये कार्यों को लेकर चिन्तन करते हैं। यदि आप नौकरी में हैं तो आप अक्सर मुंहफट होते हैं और कूटनीति का इस्तेमाल नहीं करते। अपनी बेहतरीन तरकीबों से आप अपने को उन्नति के मार्ग पर ले जाने में सफल होंगे।

स्वास्थ्य- यदि आप स्वस्थ्य रहना चाहते हैं तो आपको अपने तनाव पर काबू रखना होगा। विशेष रूप से कान और सीने की समस्याओं के प्रति सावधान रहें।

आश्चर्यजनक बात- आप बहस करने या छोटी-छोटी बातों पर झगड़ने में भी नहीं हिचकते। आप घर को अस्त-व्यस्त देखना पसंद नहीं करते, आप सदैव इसे साफ सुथरा और आरामदेय रखना चाहते हैं।

चेतावनी- आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति सदैव सतर्क रहना चाहिए। समय समय पर चेकअप अवश्य कराते रहें।

शुभ दिन- मंगलवार आैर गुरूवार।

शुभ रंग- लाल, नारंगी और क्रीम। 

पं. विजय त्रिपाठी विजय

Posted By: Molly Seth

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस