Prophecies of Jean Dixon: जीन डिक्सन, अमेरिका की भविष्यवक्ता थीं। जीन डिक्सन अपनी अचूक भविष्यवाणियों के लिए जानी जाती थीं। जब ये मात्र 6 वर्ष की थीं तब एक दिन उनकी मां ने सभी बच्चों से ऐसे ही पूछा कि बताओ आज तुम्हारे पिता तुम्हारे लिए क्या लाएंगे? जीन ने कुछ पल रुककर जवाब दिया कि एक सुन्दर-सा सफेद कुत्ता लाएंगे वो भी मेरे लिए। कहा जाता है कि जब ये सब बात चल रही थी तब उनके पिता उनके एक हजार मील दूर थे। इस पर सभी बच्चे हंसने लगे लेकिन जब पिता घर लौटे तो सच में उनके पास एक सफेद कुत्ता था। यह देख सभी अचंभित रह गए। उम्र बढ़ते बढ़ते उनकी अंतरदृष्टि क्षमता भी बढ़ती गई।

ये हैं जीन डिक्सन की प्रसिद्ध भविष्यवाणियां:

जीन डिक्सन ने सन् 1644 में तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति रुजवेल्ट की मृत्यु की तिथि खुद उनके ऑफिस में जाकर दी थी। उन्हें वहां जाकर हिचकिचाते हुए कहा था, 'मैंने आपसे ही संबंधित एक घटना देखी है।' जीन को घबराए देख रुजवेल्ट को समझ ऐ गया कि वो क्या कहना चाहती हैं। उन्होंने कहा, 'आप संकोच क्यों कर रही हैं संभव है? उन्होंने कहा, 'आपने मेरी मृत्यु से संबं‍धित घटना देखी हो, तो आप उसे बताने की कृपा करें जिससे मैं अपना बचा हुआ कार्य पूरा कर सकूं। जीन ने हिचकते हुए कहा, 'आने वाले वर्ष के मध्य में आपकी मृत्यु अवश्यंभावी है।' सन् 1645 के मध्य में रुजवेल्ट की मृत्यु हो गई।

कुछ समय बाद एक क्लब में जीन डिक्सन से उपराष्ट्रपति टू्र मैन ने उनके भविष्य के बारे में पूछा कि क्या वो उनके भविष्य के बारे में कुछ बता सकती हैं। जीन डिक्सन ने कहा, 'जरूर, आप शीघ्र ही राष्ट्रपति बनने वाले हैं।' कुछ ही समय बाद वो सच में राष्ट्रपति बन गए। टूर मैन ने जीन डिक्सन की भविष्यवाणी को सच होता देखा तो उन्होंने खुद ही जीन डिक्सन की शक्ति की चर्चा पूरे अमेरिका में तो पूरा अमेरिका उन्हें जानने लगा।

जीन डिक्सन ने जॉन कैनेडी की राष्ट्रपति के रूप में जीत की भविष्यवाणी की थी और फिर 4 साल के भीतर ही उनकी हत्या की भविष्यवाणी भी इन्होंने ही की थी। इनकी मृत्यु की भविष्यवाणी डिक्सन ने सन् 1656 में ही कर दी थी।

भारत में जीन डिक्सन ने नेहरू के निधन की भविष्यवाणी भी की थी। साथ ही शास्त्री जी के नेहरू का उत्तराधिकारी चुने जाने की भविष्यवाणी भी इन्होंने ही की थी। डिक्सन ने यह भी कहा था कि सन् 1685 के बाद तीव्र घटना चक्र गतिशील होगा। साथ ही भौतिक, आध्यात्मिक तथा राजनीतिक दृष्टि में तीव्रता से प्रगति कर सकता है।

डिस्क्लेमर-

''इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना मेंं निहित सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है. विभिन्स माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्म ग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारी आप तक पहुंचाई गई है. हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना के तहत ही लें. इसके अतिरिक्त इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेंदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी. ''  

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप