नई दिल्ली, Dussehra 2022: नवरात्र महापर्व अब अपने अंतिम चरण में है। नवरात्र के अंतिम दिन विजयदशमी पर्व मनाया जाता है। मान्यताओं के अनुसार दशमी तिथी के दिन भगवान श्री राम ने रावण का और माता दुर्गा ने महिषासुर का मर्दन किया था। इस दिन देशभर में विजयदशमी पर्व को धूमधाम से मनाया जाता है।

हर वर्ष विजय दशमी पर्व आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है। लेकिन इस वर्ष एक दुविधा की स्थिति लोगों के बीच पैदा हो रही है कि दशहरा 4 को है या 5 अक्टूबर को। ऐसा इसलिए क्योंकि दशमी तिथि 4 और 5 अक्टूबर दोनों तिथियों को पड़ रही है। अगर आप भी इस स्थिति में फंसे हुए हैं तो इस लेख को जरूर ध्यान से पढ़ें और जानिए किस दिन है सही तारीख।

4 या 5 को मनाया जाएगा दशहरा पर्व (Vijay Dashami on 4th or 5th?)

हिन्दू पंचांग के अनुसार अश्विन मास की दशमी तिथि का आरम्भ 4 अक्टूबर को दोपहर 02:20 मिनट पर हो रहा है। जिस वजह से कई लोग यह मान रहे हैं कि दशहरा पर्व 4 अक्टूबर को ही मनाया जाना चाहिए। लेकिन दशमी तिथि का समापन अगले दिन 5 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे हो रहा है। साथ ही कई हिन्दू पंचांग भी यह बता रहे हैं कि विजय दशमी पर्व 5 अक्टूबर को ही मनाया जाएगा। 5 अक्टूबर को उदयातिथि होने के कारण सुबह शस्त्र पूजा की जाएगी और संध्या काल में रावण दहन किया जाएगा। बात रही रावण दहन के समय की तो यह कार्य व्यक्ति अपनी सुविधा के अनुसार करता है।

दशहरा शुभ मुहूर्त (Dussehra 2022 Shubh Muhurat)

दशमी तिथि प्रारंभ: 4 अक्टूबर 2022, दोपहर 02:20 से

दशमी तिथि समाप्ति: 5 अक्टूबर 2022, दोपहर 12:00

श्रवण नक्षत्र प्रारंभ: 4 अक्टूबर 2022, रात 10:51 से

श्रवण नक्षत्र समाप्ति: 5 अक्टूबर 2022, रात 09:15 तक

विजय मुहूर्त: 5 अक्टूबर 2022, दोपहर 02:13 से 02: 54 तक

अमृत काल: 5 अक्टूबर 2022, सुबह 11:33 से दोपहर 01:02 मिनट तक

डिसक्लेमर

इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।

Edited By: Shantanoo Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट