Dhanteras 2019 Griha Pravesh: धनतेरस का दिन शुभ होता है, इस दिन धन और वैभव की देवी लक्ष्मी के साथ श्री गणेश, कुबेर और भगवान धनवन्तरि की पूजा करते हैं। इस दिन शुभकारी नई वस्तुएं खरीदते हैं और कुछ लोग नए भवन में गृह प्रवेश भी करते हैं, लेकिन आपको गृह प्रवेश नहीं करना चाहिए। इसके पीछे वास्तु से जुड़े कुछ कारण होते हैं। लोग भूलवश या अज्ञानता के कारण गृह प्रवेश कर लेते हैं। यदि ऐसा होता है तो आपको आर्थिक नुकसान झेलना पड़ सकता है और वर्ष भर स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं आपको घेर लेंगी।

ज्योतिषाचार्य चक्रपाणि भट्ट बताते हैं कि कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को धनतेरस मनाया जाता है, जो इस वर्ष शुक्रवार 25 अक्टूबर को है। इस दिन वास्तु सुप्तावस्था में माना जाता है। इस समय में आप नए घर में गृह प्रवेश करते हैं तो घर के मालिक का सेहत खराब हो सकता है। परिवार के सदस्य भी इससे प्रभावित हो सकते हैं। इस कारण से आपको गृह प्रवेश नहीं करना चाहिए।

वास्तु सुप्तावस्था में होने से नए घर में धन की आवक भी प्रभावित होती है। धनतेरस के दिन जिस नए घर में आप गृह प्रवेश करते हैं, उसमें धन के आगमन में कई अवरोध आ जाते हैं। इस वजह से परिवार के मालिक और सदस्यों की आर्थिक स्थिति दिन प्रति दिन खराब होती जाती है। आर्थिक स्थिति खराब होने लगती है ​तो व्यक्ति कर्ज लेता है और फिर उसमें फंस भी जाता है।

ज्योतिषाचार्य भट्ट बताते हैं कि यदि आपके पुराने आवास में कुछ फेरबदल कराई गई है, मरम्मत हुई है, तो आप धनतेरस को उस घर में प्रवेश कर सकते हैं। इसमें कोई परेशानी नहीं है।

इन कामों का करें शुभारंभ

धनतेरस के दिन आप कुछ नए कामों की शुरूआत कर सकते हैं। मुहूर्त-चिन्तामणि में बताया गया है कि कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी यानी धनतेरस के दिन ज्वैलरी शॉप, ब्यूटी प्रॉडक्ट्स और जीवनरक्षक दवाओं से संबंधित व्यापार शुरू कर सकते हैं। धनतेरस को इन कार्यों के लिए खास मुहूर्त होता है। हालांकि धनतेरस के दिन अन्य भी कार्य प्रारंभ कर सकते हैं।

Posted By: kartikey.tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप