महाभारत में चक्रव्यूह का जिक्र है। दरअसल चक्रव्यूह बहु स्तरीय रक्षात्मक सैन्य संचालन विधि है। जिसका उपयोग अमूमन प्राचीन काल में युद्ध के दौरान होता था। आज भी हम कई हॉलीवुड और बॉलीवुड, टॉलीवुड की प्रसिद्ध फिल्म बाहुबली में देख सकते हैं।

महाभारत का युद्ध उस काल में संसार का सबसे ब़ड़ा युद्ध माना जाता था। इस युद्ध में तरह-तरह के चक्रव्यूह बनाकर युद्ध किया गया। चक्रव्यूह एक तरह से सैनिकों के लिए रक्षाकवच की तरह कार्य करते थे। जिनकी योजना राजा, सेनापति और मंत्री तय करते थे। और सैनिक इसे साक्षात् रूप में बनाते थे।

ये चक्रव्यूह ऊंचाई से देखने पर चक्र या पद्म की भांति होते थे। पौराणिक अभिलेखों में इन चक्रव्यूह का चित्रण किया गया है।

महाभारत में अभिमन्यू द्वारा बनाया गया चक्रव्यूह काफी मजबूत था, लेकिन अभिमन्यु को चक्रव्यूह में जाने की कला आती थी लेकिन वह उससे बाहर नहीं निकल सकता था। उसे चक्रव्यूह का अधूरा ज्ञान था। यदि वह चक्रव्यूह का विस्तारित ज्ञान जानता तो महाभारत युद्ध का इतिहास थोड़ा अलग होता।

अभिमन्यु ने जिस चक्रव्यूह का उपयोग महाभारत युद्ध में किया था, उसका ज्ञान कृष्ण, अर्जुन, प्रद्युम्न व अभिमन्यु को ही था। महाभारत एक धर्मयुद्ध था, जिसमें युद्ध के लिए नियम तय थे। जब अभिमन्यु ने चक्रव्यूह के युद्ध करते 6 द्वार तोड़ दिए और 7वें द्वार पर पहुंचे तो कौरवों के महारथियों ने नियमों को ताक पर रखते हुए। अभिमन्यु का वध कर दिया।

जानें वर्ष के मुख्य त्यौहार और अन्य मासिक छोटे-बड़े व्रतों की तिथियां. डाउनलोड करें जागरण Panchang एप

Edited By: Preeti jha